22.1 C
Bhopal
March 3, 2024
ADITI NEWS
सामाजिक

जबलपुर,उपार्जन व्यवस्था का अनुचित लाभ उठाने का प्रयास करने वालों पर करें कठोर कार्यवाही – सांसद राकेश सिंह

जबलपुर। सांसद राकेश सिंह ने आज दोपहर कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित एक बैठक में धान उपार्जन व्यवस्था की समीक्षा कर खरीदी केंद्रों पर किसानों की सुविधाओं का विशेष ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं। श्री सिंह ने उपार्जन की चाक-चौबंद इंतजाम सुनिश्चित करने तथा किसानों के नाम पर इस व्यवस्था का अनुचित लाभ उठाने का प्रयास करने वाले बिचौलियों पर कठोर कार्यवाही करने की हिदायत भी बैठक में दी।
   बैठक में कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित सहित विभिन्न किसान संघों के प्रतिनिधि मोहन तिवारी, प्रहलाद पटेल एवं श्री पचौरी और उपार्जन व्यवस्था से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे। सांसद श्री सिंह ने धान उपार्जन को लेकर जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थओं के प्रति सन्तोष व्यक्त करते हुये इसे और बेहतर बनाने के लिये किसान संघों के प्रतिनिधियों से अपने सुझाव देने का आग्रह किया। उन्होंने अधिकारियों से भी कहा कि उपार्जन को लेकर किसानों के सामने आने वाली व्यावहारिक कठिनाइयों को तत्काल दूर करने के प्रयास करें। सांसद ने कहा कि उपार्जन केंद्रों पर निर्धारित गुणवत्ता का ही धान खरीदा जाये तथा खरीदी गई उपज का समय पर भुगतान भी सुनिश्चित किया जाये। बैठक के प्रारम्भ में कलेक्टर श्री शर्मा ने समर्थन मूल्य पर किसानों से धान के उपार्जन के लिये जिले में कई गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसानों की सुविधा को देखते हुये पिछले वर्ष स्थापित किये गये 71 खरीदी केंद्रों की तुलना में इस वर्ष 95 खरीदी केंद्र स्थापित किया गये हैं। श्री शर्मा ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार  इस बार पन्द्रह नवम्बर से धान का उपार्जन शुरू कर दिया गया है ताकि किसानों को अपनी उपज के विक्रय के लिये अधिक समय मिल सके। उन्होंने बताया कि अधिकांश खरीदी केंद्रों पर धान का उपार्जन प्रारम्भ भी हो गया है। अभी तक सात हजार से अधिक किसानों को एसएमएस भेजे जा चुके हैं और करीब सवा चार सौ किसानों से 1 हजार 880  क्विंटल धान का उपार्जन किया जा चुका है।
   कलेक्टर ने बैठक में मौजूद किसान संघों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे अपने क्षेत्र के किसानों को एसएमएस मिलने पर ही खरीदी केंद्रों साफ-सुथरी और एफएक्यू क्वालिटी की धान लेकर आने की समझाइश दें। उन्होंने कहा कि उपार्जन के लिये पंजीयन कराने वाले प्रत्येक किसान के धान का एक-एक दाना खरीदा जायेगा। श्री शर्मा ने किसान संघो के प्रतिनिधियों से बैठक में एसएमएस की संख्या बढ़ाने तथा छोटे किसानों के साथ-साथ बड़े किसानों को भी एसएमएस भेजने के मिले सुझाव को शासन को शीघ्र भेजने का भरोसा देते हुये बताया कि शासन के निर्देशानुसार धान उपार्जन के लिये अभी छोटे किसानों को एसएमएस भेजने में प्राथमिकता दी जा रही है।
   बैठक में किसान संघों के प्रतिनिधियों द्वारा दिये गये अन्य सुझावों पर भी त्वरित कार्यवाही करने का भरोसा दिया गया। इस अवसर पर किसान संघों के प्रतिनिधियों ने भी जिले में धान उपार्जन के लिये की गई व्यवस्थाओं के प्रति सन्तोष व्यक्त किया।

Related posts