22.1 C
Bhopal
March 3, 2024
ADITI NEWS
टेक्नोलॉजीराजनीतिसामाजिकहैल्थ

मध्य प्रदेश के प्रमुख समाचार

मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय रेल मंत्री श्री वैष्णव से भेंट

इंदौर की रेल कनेक्टिविटी के संबंध में हुई चर्चा
इंदौर-बुधनी रेल परियोजना को शीघ्र पूरा करवाने और इंदौर-भोपाल मैट्रो के लिए विशेषज्ञ उपलब्ध कराने का अनुरोध

दिल्ली।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नई दिल्ली में केन्द्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव से रेल भवन में भेंट कर प्रदेश से जुड़ी विभिन्न रेल परियोजनाओं संबंधी चर्चा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्रीय रेल मंत्री से इंदौर-मनमाड और इंदौर-दाहोद रेलवे लिंक को शीघ्र पूरा करवाने का अनुरोध किया। साथ ही इन परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण में राज्य सरकार की ओर से समुचित कार्यवाही का भी आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इन दोनों लिंक परियोजनाओं के पूर्ण होने से इंदौर, पीथमपुर और धार क्षेत्र के और अधिक औद्योगिकीकरण में मदद मिलेगी। उन्होंने वर्षों पुरानी इंदौर-बुधनी रेल परियोजना की मांग को जल्द पूरा करवाने का भी अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार का इस वर्ष सितम्बर माह से पहले इंदौर और भोपाल शहरों में मैट्रो चलाने का लक्ष्य है। इसके लिए विशेषज्ञों की आवश्यकता होगी। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से इस संबंध में विशेषज्ञ मानव शक्ति उपलब्ध कराने का अनुरोध किया।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-सेवा मित्रों से संवाद किया

हरदा।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हरदा जिले के रहटगाँव में जन-सेवा मित्र एवं जन अभियान परिषद के अमले से संवाद कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन का फीडबैक लिया। उन्होंने मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के प्रति महिलाओं में जागरूकता लाने एवं अन्य योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुँचाने की अपेक्षा की। इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, क्षेत्रीय सांसद श्री दुर्गादास उईके, क्षेत्रीय विधायक श्री संजय शाह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री गजेंद्र शाह सहित स्थानीय जन-प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

24 अप्रैल का दिन पंचायत राज संस्थाओं और ग्रामीण विकास के लिए होगा ऐतिहासिक : मुख्यमंत्री श्री चौहान

प्रधानमंत्री श्री मोदी राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर रीवा आएंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की तैयारियों की समीक्षा

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश का सौभाग्य है कि राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी रीवा पधार रहे हैं। यह दिन पंचायती राज संस्थाओं और ग्रामीण विकास के लिए ऐतिहासिक होगा। अधिक से अधिक पंचायत प्रतिनिधि और जन-प्रतिनिधि कार्यक्रम में शामिल हों और वर्चुअली भी लोग कार्यक्रम से जुड़ें। मुख्यमंत्री श्री चौहान, प्रधानमंत्री श्री मोदी के आगमन तथा राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस के लिए रीवा में जारी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री निवास स्थित कार्यालय भवन समत्व में हुई बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव श्री मलय श्रीवास्तव तथा श्री मोहम्मद सुलेमान, पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर सक्सेना और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। रीवा संभागायुक्त और कलेक्टर वर्चुअली शामिल हुए।

बताया गया कि रीवा स्थित एस.ए.एफ. ग्राउंड में मुख्य कार्यक्रम होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी गृह प्रवेशम कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 4 लाख 11 हजार हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराएंगे तथा जल जीवन मिशन के 7573 करोड़ 64 लाख रूपये के कार्यों का शिलान्यास करेंगे। इसमें रीवा बाणसागर समूह जल प्रदाय योजना, टमस समूह जल प्रदाय योजना, सतना बाणसागर-2 समूह जल प्रदाय योजना, सीधी बाणसागर समूह जल प्रदाय योजना और गुलाब सागर समूह जल प्रदाय योजना सम्मिलित हैं।

प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण भी प्रस्तावित है। इसमें मध्यप्रदेश के रेल नेटवर्क के शत-प्रतिशत विद्युतीकरण के साथ ही बीना -कोटा रेल खण्ड का दोहरीकरण, छिंदवाड़ा- नैनपुर-मंडला फोर्ट रेल खण्ड का गेज परिवर्तन और विद्युतीकरण, बिरला नगर- उदी मोड फोर्ट रेलखण्ड और महोबा- खजुराहो- उदयपुरा रेल खण्ड का विद्युतीकरण शामिल है। प्रधानमंत्री श्री मोदी इंदौर एवं ग्वालियर स्टेशन के पुनर्विकास कार्यों का शुभारंभ करेंगे तथा तीन नई यात्री रेल रीवा-इतवारी वाया छिंदवाड़ा यात्री ट्रेन, छिंदवाड़ा- नैनपुर यात्री ट्रेन तथा नैनपुर-छिंदवाड़ा ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत एकम समावेशी विकास वेबसाइट और मोबाइल एप की नेशनल लॉन्चिंग भी करेंगे। ई ग्राम स्वराज पोर्टल और पंचायत स्तर पर सामग्री क्रय के लिए जेम पोर्टल का भी राष्ट्रीय स्तर पर शुभारंभ किया जाएगा। रीवा में प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, आजीविका मिशन, अमृत सरोवर, ग्रामीण पर्यटन के अंतर्गत विकसित होम स्टे, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर, जल जीवन मिशन, स्वामित्व योजना, रीवा अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा परियोजना, बाणसागर परियोजना, वाइट टाइगर (सफेद शेर) और कृषि संबंधित प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

मध्यप्रदेश में बहने सशक्त होकर सरकार चलाने का भी कर रही हैं काम: मुख्यमंत्री श्री चौहान

भाई-बहन का यह अटूट बंधन विकास के साथ जनता का भविष्य भी बनाएगा
लाड़ली लक्ष्मी योजना ने बनाया बेटियों को लखपति
बहनों को आत्म-निर्भर बनायेगी लाड़ली बहना योजना
हर बहन को लखपति बनाना हमारा संकल्प
रहटगाँव को नगर परिषद और कॉलेज की दी सौगात
मुख्यमंत्री श्री चौहान हरदा में मुख्यमंत्री लाड़ली बहना महासम्मेलन में हुए शामिल
102 
करोड़ रूपये के विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमि-पूजन के साथ हितलाभ वितरण

हरदा।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में बहनों का निरंतर सशक्तिकरण हो रहा है। जिन लाड़ली लक्ष्मियों को मैंने गोद में खिलाया था, आज वे सरकार चलाने का काम कर रही हैं। आज ऐसी ही एक बेटी भारती हरदा नगर पालिका अध्यक्ष है। राज्य सरकार ने पंचायतों में बहनों के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण लागू किया, जिससे आज ग्राम पंचायत से लेकर जिला पंचायत तक मेरी बहनें राज कर रही हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान हरदा में मुख्यमंत्री लाड़ली बहना महा सम्मेलन में शामिल हुए। उन्होंने 102 करोड़ रूपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि-पूजन किया। साथ ही विभिन्न शासकीय योजनाओं में हितग्राहियों को हितलाभ वितरित किये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि एकलव्य विद्यालय के लिए स्व. श्री हरिप्रसाद पालीवाल ने अपनी निजी 22 एकड़ जमीन दान की थी। विद्यालय के आवासीय भवन का नाम स्व. श्री पालीवाल के नाम से रखा जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की गरीब एवं मध्यमवर्गीय परिवार की महिलाओं के लिये मुख्यमंत्री लाड़ली बहना शुरू की गई है। इस योजना से मेरी सभी पात्र बहनें लाभान्वित होगी। उन्होंने कहा कि भाई-बहन का स्नेह, आत्मा और प्रेम का संबंध है। बहन-बेटियों का सम्मान और उनका कल्याण मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। मैं अक्सर यह गाना गुनगुनाता रहता हूँ “फूलों का तारों का सबका कहना है, एक हजारों में मेरी बहना है।” बहनों की खुशी मेरी खुशी है। बहनों की जिंदगी खुशहाल हो, यह मेरे मुख्यमंत्री बनने की सार्थकता है। मध्यप्रदेश में भाई-बहन का यह अटूट बंधन विकास भी करेगा और जनता का भविष्य भी बनाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पहले बेटा-बेटी में भेद किया जाता था। बेटे को वरदान और बेटी को बोझ माना जाता था। मैंने इस अन्याय को समाप्त करने का संकल्प लिया और निरंतर इस दिशा में कार्य किया। मध्यप्रदेश में सबसे पहले लाड़ली लक्ष्मी योजना बनाई गई, जिससे बेटियों को लखपति बनाने का कार्य किया गया। आज प्रदेश में 44 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी हैं। जिन बेटियों को मैंने गोद में खिलाया था, आज वे बड़े-बड़े कार्य कर रही हैं। गरीब बेटियों की केवल पढ़ाई-लिखाई की नहीं बल्कि उनके विवाह की जिम्मेवारी भी सरकार उठाती है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में उनका विवाह कराया जाता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए मध्यप्रदेश के स्थानीय निकायों में बहनों को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया। पुलिस की भर्ती में उन्हें 30 प्रतिशत और शिक्षकों की भर्ती में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया। बहन, बेटियों के नाम से अचल संपत्ति खरीदने पर उनसे सिर्फ 1 प्रतिशत स्टांप शुल्क लिया जाता है। अब बहनों के लिए लाड़ली बहना योजना चालू की गई है, जिसमें उन्हें प्रतिमाह 1000 रूपये दिए जाएंगे। योजना का लाभ उन सब बहनों को मिलेगा, जिनकी उम्र 23 से 60 वर्ष के बीच है, परिवार की सालाना आमदनी ढाई लाख रूपए से कम है, 5 एकड़ से अधिक भूमि नहीं है और 4 पहिया वाहन नहीं है। योजना में 30 अप्रैल तक फॉर्म भरे जा रहे हैं। मई माह में आवेदनों का परीक्षण कर पात्र बहनों के खाते में 10 जून से राशि आने लगेगी। यह योजना बहनों को आत्म-निर्भर बनाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर बहन को लखपति बनाना हमारा संकल्प है और विभिन्न योजनाओं से मध्यप्रदेश में यह कार्य किया जा रहा है। ग्रामीण आजीविका मिशन में स्व-सहायता समूह की बहनों को विभिन्न कार्यों के लिए 2 प्रतिशत ब्याज पर सरकार ऋण उपलब्ध करवाती है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि एक अप्रैल से प्रदेश में शराब के सभी अहाते बंद कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए जिले में अवैध शराब की बिक्री और अवैध रेत का खनन किसी भी हालत में न हो। गुंडे-बदमाशों को ठीक कर दिया जाए। कोई नेता गड़बड़ी करे तो उसे भी मत छोड़ो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में बेटियों के साथ दुराचार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। प्रदेश में ऐसे दुराचारियों को फाँसी की सजा का प्रावधान किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में हर व्यक्ति के लिए रोजगार की व्यवस्था की गई है। एक लाख 24 हजार सरकारी पदों पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। हर माह ढाई लाख व्यक्तियों को रोजगार के लिए ऋण दिया जाता है। अब एक नई योजना, “लर्न एंड अर्न” बनाई गई है, जिसमें पढ़े-लिखे युवा, कौशल सीखने के साथ कमाई भी कर सकेंगे। ऐसे युवाओं को प्रतिमाह 8100 रूपये मानदेय दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गत सरकार ने जनता के कल्याण की बहुत सी योजनाएँ बंद कर दी थी, जिन्हें हमने फिर से चालू किया है। हमारी सरकार में सिंचाई का रकबा साढ़े 7 लाख हेक्टेयर से बढ़ कर 45 लाख हेक्टेयर हो गया है। हरदा मध्यप्रदेश का पहला शत-प्रतिशत सिंचित जिला बन गया है। क्षेत्र के लिए मोरन गंजाल योजना स्वीकृत की गई है। पहले यहाँ मूंग पैदा नहीं होती थी, आज बड़ी मात्रा में मूंग पैदा हो रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में हर गरीब व्यक्ति को रहने की जमीन के लिए नि-शुल्क प्लॉट दिया जा रहा है। हरदा जिले में आज मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना में 1700 पट्टे बाँटे जा रहे हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि गाँव-गाँव जाकर चिन्हित हितग्राहियों को पट्टे वितरित किए जाएँ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रहटगाँव को हमारी सरकार ने तहसील बनाया था, अब आबादी की शर्त पूरी होने पर रहटगाँव को नगर परिषद बनाया जायेगा। यहाँ के उप स्वास्थ्य केंद्र का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नयन किया जाएगा। टिमरनी के स्वास्थ्य केन्द्र का उन्नयन 50 बिस्तर अस्पताल में किया जाएगा और इसका नया भवन स्वीकृत किया जाएगा। टिमरनी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम चंदखाल और भीमपुरा में नया विद्युत सब स्टेशन और रहटगाँव में कॉलेज भी स्वीकृत किया जाएगा।

हरदा जिले के प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने अनेक जन-कल्याणकारी योजनाएँ लागू की हैं। लाड़ली बहना योजना महिलाओं के हित में एक अति महत्वपूर्ण योजना है। उन्होंने कहा कि इस योजना से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा तथा समाज और परिवार में महिलाओं का सम्मान बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि हरदा जिले में योजना के तहत लगभग 80 हजार महिलाएँ लाभान्वित होंगी। इनमें से 90 प्रतिशत अर्थात लगभग 70 हजार से अधिक महिलाओं का पंजीयन कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि शेष महिलाओं का इस माह के अंत तक पंजीयन कर लिया जाएगा।

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में प्रदेश निरंतर प्रगति कर रहा है। हरदा जिला कृषि के क्षेत्र में तो नंबर वन है ही अब सिंचाई के क्षेत्र में भी नंबर वन बनेगा। उन्होंने कहा कि मोरन गंजाल सिंचाई योजना तथा शहीद इलापसिंह सिंचाई योजना के पूर्ण होने पर हरदा जिला प्रदेश का सबसे पहला शत-प्रतिशत सिंचित जिला होने वाला है। इसके लिये उन्होंने जिले के नागरिकों की ओर से मुख्यमंत्री का आभार माना। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि लाड़ली बहना योजना से महिलाएँ आत्म-निर्भर होंगी और योजना में मिलने वाली राशि से गरीब अपनी जरूरतों की पूर्ति आसानी से कर सकेंगी।

सांसद श्री दुर्गादास उइके ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पहले बालिकाओं के कल्याण के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ की थी अब महिलाओं के लिए लाडली बहना योजना प्रारंभ की है, जिससे महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार आएगा। सांसद ने गोंडी भाषा में संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से निकल कर स्वर्णिम मध्यप्रदेश के रूप में उभरा है। सरकार ने 15 नवम्बर को जनजातीय गौरव दिवस मनाने तथा पेसा नियम के रूप में जनजातीय वर्ग को सांवैधानिक अधिकार देने एवं प्रदेश में श्रृद्धा और आस्था के धार्मिक स्थलों को पुर्नस्थापित करने जैसे उल्लेखनीय कार्य किये है।

विधायक श्री संजय शाह ने टिमरनी आगमन पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का हार्दिक स्वागत करते हुए आभार प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की योजनाएँ आमजन को राहत एवं खुशियाँ दे रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री को जिले के विकास के लिये दी गई सौंगातों के लिये धन्यवाद दिया। सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री चौहान को बहनों ने राखी और बाँस शिल्प से निर्मित उनका चित्र भेंट किया। मुख्यमंत्री को जनजातीय परम्परानुसार कोड़ी की जैकेट ओर साफा बांधकर स्वागत किया। प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने गाय को पशु आहार खिलाया। कार्यक्रम में जन-प्रतिनिधि, अधिकारी, बहनें और बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे।

भारत रत्न डॉ.अम्बेडकर के विचारों ने लोगों को समर्थ और जागरूक बनाया : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्रीडॉ अम्बेडकर प्रतिमा अनावरण समारोह में हुए शामिल
मध्यप्रदेश विधान सभा परिसर में हुआ कार्यक्रम

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि महापुरूषों की प्रतिमाएँ हमारा मार्गदर्शन और पथप्रदर्शन करती हैं। भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा हमें यही याद दिलाएगी कि उनके द्वारा बनाए गए संविधान के प्रावधानों के परिणामस्वरूप ही हम जनता के प्रतिनिधि के रूप विधायक और मंत्री का दायित्व निभा रहे हैं। बाबा साहेब के उदघोष ” शिक्षित बनो-संगठित रहो- संघर्ष करो” ने हमें अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहने में समर्थ बनाया। बाबा साहेब कुछ लोगों के नहीं सभी देशवासियों के श्रद्धा के केंद्र हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मध्यप्रदेश विधानसभा परिसर में भारत रत्न बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर प्रतिमा अनावरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा का अनावरण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। विधानसभा अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम, गृह तथा संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह और विधानसभा की अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण समिति के अध्यक्ष इंजीनियर प्रदीप लारिया विशेष रूप से उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सामाजिक न्याय के प्रणेता तथा दलित, शोषित, पीड़ितों को उनके अधिकार दिलवाने का मार्ग प्रशस्त करने वाले श्रद्धेय बाबा साहेब डॉ. अम्बेडकर को मानने के साथ ही उनके विचारों को आत्मसात करना आवश्यक है। उनके सपनों को साकार करने के लिए हमें उस दिशा में प्रतिदिन का कार्य करने और समतामूलक समाज के निर्माण के लिए सकारात्मक प्रयास करने का संकल्प लेना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश का सौभाग्य है कि डॉ. अम्बेडकर का जन्म महू में हुआ, जिसका नामकरण उन्हीं के नाम पर किया गया है। राज्य सरकार द्वारा महू में डॉ अम्बेडकर का स्मारक निर्मित कराया गया था। अब सेना से भूमि मिल जाने से महू आने वाले श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए आवश्यक व्यवस्था की जाएगी।

विधानसभा अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर ने समाज को चेतना दी। परिणामस्वरूप समाज का हर वर्ग शिक्षित होने के लिए प्रयासरत है। राज्य सरकार का भी निरंतर प्रयास है कि समाज का कोई भी वर्ग शिक्षा से वंचित न रहे। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा इस दिशा में किए जा रहे प्रयास सराहनीय हैं। कार्यक्रम को नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने भी संबोधित किया।

द भोपाल विजन स्टेटमेंट” विरासतों के संरक्षण को नई दिशा देगा: मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान से यूनेस्को प्रतिनिधि-मंडल ने की भेंट

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से यूनेस्को के संस्कृति अनुभाग की प्रमुख सुश्री जुन्ही हॉन, श्रीलंका के धार्मिक और सांस्कृतिक मामलों के सचिव श्री सोमरत्ना विद्ना पथिराना, प्रोफेसर गामिनी रणसिंघे सहित भोपाल में हुई यूनेस्को सब रीजनल कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए यूनेस्को के प्रतिनिधि-मंडल ने मुख्यमंत्री निवास कार्यालय समत्व में भेंट की। मुख्यमंत्री श्री चौहान को सुश्री हॉन ने “द नेक्स्ट 50 वेज़ फॉरवर्ल्ड फॉर साउथ एशिया वर्ल्ड हेरिटेज” और “द भोपाल विजन स्टेटमेंट” की प्रति भेंट की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतिनिधि-मंडल के सदस्यों का पुष्प-गुच्छ से स्वागत कर साँची स्तूप की प्रतिकृति और चंदेरी का अंगवस्त्रम भेंट किये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यूनेस्को सब रीजनल कॉन्फ्रेंस का भोपाल में आयोजन प्रदेश के लिए गर्व और सौभाग्य का विषय है। राज्य सरकार ने अतिथि देवो भव की परम्परा अनुसार ही कॉन्फ्रेंस में आये अतिथियों का स्वागत सत्कार किया है। कॉन्फ्रेंस के निष्कर्षों से देश-दुनिया को विरासतों के संरक्षण के लिए नए विचार और आयाम मिले हैं। “द भोपाल विजन स्टेटमेंट” विरासतों के संरक्षण को नई दिशा देगा। सांस्कृतिक आदान-प्रदान की दृष्टि से भी कॉन्फ्रेंस उपयोगी सिद्ध हुई। सुश्री हॉन ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का कॉन्फ्रेंस के सफल आयोजन के लिए आभार माना।

मध्यप्रदेश पुलिस के दो प्रशिक्षण संस्थानों को मिली यूनियन होम मिनिस्टर ट्रॉफी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बधाई दी
केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली में नवाजा जायेगा

भोपाल।पुलिस के सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण संस्थानों को प्रतिवर्ष दी जाने वाली यूनियन होम मिनिस्टर ट्रॉफी के वर्ष 2021-22 के विजेता मध्य प्रदेश पुलिस अकादमी भौरी और पुलिस प्रशिक्षण शाला पचमढ़ी रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों को इस उपलब्धि के लिये बधाई दी है। यूनियन होम मिनिस्टर ट्रॉफी से सम्मानित किए जाने वाले प्रशिक्षण संस्थानों को ट्रॉफी एवं प्रमाण-पत्र के साथ 2 लाख रूपये की नगद राशि भी प्रदान की जायेगी। केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली में अलंकरण समारोह किया जाएगा। इसमें पुलिस प्रशिक्षण शाला पचमढ़ी की ओर से श्रीमती निमिषा पाण्डेय एवं म.प्र. पुलिस अकादमी भौरी भोपाल की ओर से श्री मलय जैन यह सम्मान प्राप्त करेंगे।

पश्चिम जोन के लिए आरक्षकों का सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण केन्द्र पुलिस प्रशिक्षण शाला पचमढ़ी एवं उप पुलिस अधीक्षकों की सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण अकादमी, म.प्र. पुलिस अकादमी भौरी को चुना गया है। प्रशिक्षण में नव प्रयोग तथा आधुनिक तकनीक का समावेश कर देश के पुलिस प्रतिभागियों को प्रशिक्षण का लाभ देने में म.प्र. पुलिस अग्रणी रही है। प्रशिक्षण विशेषज्ञों को जोड़ने के लिये देश-विदेश के विश्वविद्यालयों एवं रिसर्च इंस्टीट्यूट के साथ एम.ओ.यू. एवं विशेषज्ञता के आदान-प्रदान से उत्तम कोटि के परिणाम सामने आए।

देश के पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में उत्कृष्ट प्रशिक्षण का आकलन ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एवं डेवलपमेंट द्वारा निर्धारित मानकों पर किया जाता है। इसमें आरक्षकों के प्रशिक्षण संस्थान एक कैटेगरी में तथा उप निरीक्षक एवं पुलिस उप अधीक्षकों के प्रशिक्षण संस्थान अलग-अलग कैटेगरी में रख कर निर्धारित मापदण्ड पर बेहतर प्रशिक्षण पद्धति, संसाधनों का समुचित रख-रखाव एवं वर्ष भर में उत्कृष्ट प्रशिक्षण क्षमता प्रदर्शित करने वाले प्रशिक्षण संस्थान का चयन राष्ट्रीय स्तर पर गठित कमेटी द्वारा किया जाता है।

समय पर कार्यवाही करना ही शांति की गारंटी: मुख्यमंत्री श्री चौहान

माफिया की मानसिकता रखने वालों को ध्वस्त किया जाए
मुख्यमंत्री ने नक्सलियों के विरूद्ध पुलिस की कार्यवाही को सराहा
पुलिस थानों में हो ग्रेडिंग व्यवस्था
कानून-व्यवस्था के मामले में प्रदेश को देश में नंबर वन बनाने की क्षमता रखती है पुलिस
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की कानून-व्यवस्था की समीक्षा

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि समय पर कड़ी कार्यवाही करना ही शांति की गारंटी है। पुलिस, निरंतर सजग और सक्रिय रहते हुए घटनाओं की संभावनाओं को निर्मूल करे। समाज का माहौल खराब करने वालों को किसी तरह की मोहलत नहीं दी जा सकती। माफिया चलाने की मानसिकता रखने वालों को ध्वस्त किया जाए। पुलिस, कानून-व्यवस्था के मामले में प्रदेश को देश में नंबर वन बनाने की क्षमता रखती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश की कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय समत्व भवन में हुई बैठक में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर सक्सेना और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। जिलों के पुलिस अधीक्षक बैठक से वर्चुअली जुड़े।

आतंकवादअतिवाद जैसी गतिविधियों को पनपने नहीं दिया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट में नक्सलियों के विरूद्ध पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही की प्रशंसा करते हुए कहा कि नक्सलियों के धन संग्रहण की व्यवस्था और सप्लाई चेन को तोड़ने के प्रयास निरंतर जारी रहें। उन्होंने बुरहानपुर में अतिक्रमण रोकने के लिए की गई कार्यवाही की भी सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुँचाने तथा कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। मध्यप्रदेश शांति का टापू है, यहाँ आतंकवाद, अतिवाद जैसी गतिविधियों को किसी भी स्थिति में पनपने नहीं दिया जाएगा। इस संबंध में यदि किसी मदरसे में संदिग्ध गतिविधियाँ चलने की जानकारी प्राप्त होती है, तो तुरंत कार्यवाही की जाए। साथ ही प्रलोभन देकर धर्मांतरण की गतिविधियों पर भी पैनी नजर रखी जाए।

शराब ठेकेदार निर्धारित स्थान पर ही शराब बेचें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भू- माफिया, शराब माफिया, ड्रग्स आपरेटर, रेत माफिया के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। चिटफंड और मिलावट जैसी गतिविधियों से जन-सामान्य को हो रहे नुकसान के प्रति भी सचेत रहें तथा कार्यवाहियाँ जारी रखी जाए। निरंतर सक्रियता से इन कार्यों में लगे लोगों की गतिविधियों पर समय रहते नियंत्रण संभव होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य शासन द्वारा प्रदेश में शराब के सभी अहाते एक अप्रैल से बंद कर दिए गए हैं। यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी अहाता चालू न रहे और कहीं भी गुपचुप तरीके से शराब नहीं बिके। शराब के ठेकेदार निर्धारित स्थान पर ही शराब बेचें, अन्य स्थानों पर शराब की बिक्री न हो। ड्रग्स का धंधा कर युवा पीढ़ी को बरबाद करने में लगे लोगों को ध्वस्त किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जुआ- सट्टा, साइबर अपराध के प्रति जागरूक रहना और इनके विरूद्ध निरंतर कार्यवाही करना आवश्यक है।

सोशल मीडिया पर नजर रखना आवश्यक

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, कमजोर वर्गों और महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों पर सख्त कार्यवाही की जाए। पेसा नियमों में गठित शांति और विवाद निवारण समितियों के सक्रिय संचालन में आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाए। इस संबंध में जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा डीएफओ की संयुक्त बैठक शीघ्र की जाएगी। राज्य सरकार पेसा नियमों का धरातल पर सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सोशल मीडिया पर नजर रखना आवश्यक है। सामाजिक-धार्मिक सौहार्द्र और राजनैतिक प्रतिद्वंदिता को प्रभावित करने वालों पर कार्यवाही की जाए।

कमिश्नर सिस्टम से व्यवस्था में गुणात्मक परिवर्तन का आभास कराना पुलिस का दायित्व

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पुलिस थानों की कार्य-प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए ग्रेडिंग की व्यवस्था स्थापित की जाए। मध्यप्रदेश पुलिस, टीम के रूप में कार्य रही है और टीम की प्रतिष्ठा बढ़ाने के लिए हम संयुक्त रूप से हर संभव प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल और इंदौर में लागू पुलिस कमिश्नर प्रणाली की प्रासंगिकता सिद्ध करना और जन-सामान्य को पुलिस व्यवस्था में गुणात्मक परिवर्तन का आभास कराना पुलिस का दायित्व भी है और चुनौती भी।

त्यौहारों पर आवश्यक सतर्कता बनाए रखें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी तथा केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह द्वारा पुलिस व्यवस्था के संबंध में दिए गए निर्देशों की भी प्रदेश के संबंध में शीघ्र ही समीक्षा की जाएगी। एक पखवाड़े के बाद पुन: पुलिस अधिकारियों के साथ संवाद किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आगामी त्यौहारों में आवश्यक सतर्कता बनाए रखने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ यूनेस्को की सुश्री जुन्ही हॉन ने पौध-रोपण किया

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के साथ यूनेस्को की कार्यक्रम विशेषज्ञ तथा संस्कृति अनुभाग की प्रमुख सुश्री जुन्ही हॉन ने पौध-रोपण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्यामला हिल्स स्थित उद्यान में आँवला, जामुन, सप्तपर्णी और करंज के पौधे लगाए। सर्वश्री वैभव साहू, दूपेंद्र झरवड़े और हनी शर्मा ने अपने जन्म-दिवस पर पौधे रोपे। श्री संदीप शर्मा तथा श्रीमती शुभी शर्मा ने अपनी विवाह वर्षगाँठ पर पौध-रोपण किया। न्याशिस सामाजिक कल्याण समिति भोपाल के सर्वश्री नवीन बोड़के, दीपेश साहू, महादेव पुड़ेल, सुश्री प्रियंका पारखे तथा प्रिया देशमुख ने भी पौधे लगाए।

ऑन लाइन गैम्बलिंग के विरूद्ध होगी कार्यवाही : मुख्यमंत्री श्री चौहान

प्रदेश में लागू किया जाएगा नया जुआ अधिनियम
चिटफंड कम्पनियों पर कार्यवाही के लिए गठित होगा विशेष सेल

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि चिटफंड कम्पनियों के विरूद्ध अभियान लगातार जारी रहेगा। इन कम्पनियों पर प्रभावी कार्यवाही और प्रभावित लोगों का पैसा लौटाने के काम की निगरानी के लिए पुलिस मुख्यालय में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी की अध्यक्षता में विशेष सेल गठित किया जाएगा। राज्य सरकार सुनिश्चित करेगी कि इन कम्पनियों के खिलाफ कार्यवाही हो और प्रभावित लोगों को उनका पैसा वापस मिले। मुख्यमंत्री श्री चौहान श्यामला हिल्स उद्यान में पौध-रोपण के बाद मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऑन लाइन गैम्बलिंग बड़ी समस्या है। वर्तमान में प्रदेश में जुआ अधिनियम 1876 लागू है। इसमें ऑन लाइन गैम्बलिंग के विरूद्ध कोई प्रावधान नहीं है। राज्य शासन ने वर्तमान जुआ अधिनियम के स्थान पर मध्यप्रदेश जुआ अधिनियम 2023 बनाने का निर्णय लिया है। नए अधिनियम में ऑन लाइन गैम्बलिंग के विरूद्ध पर्याप्त प्रावधान शामिल किए जाएंगे, जिससे इन गतिविधियों में लिप्त अपराधियों को दंडित किया जा सके।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकार श्री बिलगैया के निधन पर दुख व्यक्त किया

भोपाल।शिवराज सिंह चौहान ने सागर निवासी वरिष्ठ पत्रकार श्री दीनदयाल बिलगैया के निधन पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बिलगैया जी ने अनेक अखबारों के लिए निरंतर सक्रिय पत्रकारिता की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दिवंगत पत्रकार श्री बिलगैया की आत्मा की शांति और उनके शोक संतप्त परिजन और मित्र जन को यह दुख सहन करने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की है। .

अस्पतालों में सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता रहे : स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी

एक्सरेसोनोग्राफी मशीन वर्किंग कंडीशन में रहे
स्वास्थ्य मंत्री ने की एमपी पीएचएससीएल के कार्यों की समीक्षा

भोपाल।लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि सभी शासकीय अस्पतालों में आवश्यक दवाओं की उपलब्धता रहे और दवाइयों की सतत आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाए।

मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि बीपी, शुगर समेत अन्य बीमारियों की दवाइयों की उपलब्धता में कोताही न बरती जाए। सरकारी अस्पताल पहुँचे मरीज को नि:शुल्क दवा उपलब्ध कराना हमारी जिम्मेदारी है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सिविल अस्पताल एवं जिला अस्पताल में उपलब्ध रहने वाली दवाओं की संख्या निर्धारित की गई है। अस्पतालों में इन दवाओं की उपलब्धता की सतत मॉनिटरिंग की जाए।  मानक एवं उच्च गुणवत्ता  की दवाएँ उपलब्ध रहें। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी बुधवार को मध्यप्रदेश पब्लिक हेल्थ सर्विसेस के कार्यालय के सभागार में एमपी पीएचएससीएल के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि स्वास्थ्य केंद्रों तक आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करना कॉर्पोरेशन की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि एक्सरे मशीन, सोनोग्राफी मशीन एवं सीटी स्केन मशीन आदि को कॉर्पोरेशन द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है। मशीनों को उपलब्ध कराने के साथ वर्किंग कंडीशन में रखना सुनिश्चित करें। मशीन खराब होने पर संबंधित एजेंसी से तुरंत मरम्मत करवाएँ।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय संचालक और सीएमएचओ समय-समय पर निरंतर निरीक्षण कर दवाओं की उपलब्धता और मशीनों को वर्किग कंडीशन में रखना सुनिश्चित करें। बैठक में कॉर्पोरेशन की गतिविधियों पर प्रजेंटेशन भी दिया गया।

अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री मोहम्मद सुलेमान, स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े और  एमपीपीएचएससीएल सीईओ डॉ. पंकज जैन उपस्थित रहे।

CBuD एप्प से दूरसंचार कंपनियों को अब खुदाई की मिलेगी अनुमति

मध्यप्रदेश में विभागों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त

भोपाल।दूर संचार सेवाओं के लिए सड़कों आदि की खुदाई के लिए एजेंसियाँ अब CBuD एप्प पर अनुमति प्राप्त कर कार्य कर सकेंगी। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने दूरसंचार सेवाओं के तेजी से विस्तारीकरण के लिए गत 22 मार्च को काल बिफोर यू डिग CBuD एप्प का शुभारंभ किया और एप्प से संबंधित कार्यवाही करने में मध्यप्रदेश के देश में प्रथम रहने पर सराहना की थी।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री निकुंज श्रीवास्तव ने बताया है कि दूरसंचार संरचना विकसित करने वाली सेवा प्रदाता कंपनियों को सामान्यत: नगरीय विकास एवं आवास, जल संसाधन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, राजस्व, खनिज साधन, वन, ऊर्जा, लोक निर्माण और पर्यावरण जैसे 9 विभाग से अनुमति लेनी होती है। राज्य शासन ने इन विभागों के लिए एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। श्री श्रीवास्तव ने बताया कि अब इस एप्प में कंपनियाँ अपना नामांकन करेंगी और स्वीकृति प्राप्त होने के बाद खुदाई कार्य कर सकेंगी ।

प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने बताया कि दूर संचार सुविधा नागरिकों की मूलभूत सुविधाओं में शामिल है। केन्द्र सरकार द्वारा देश के नागरिकों को दूरसंचार सुविधायें उपलब्ध कराये जाने के कार्य प्राथमिकता से कराये जा रहे हैं। इसी के दृष्टिगत प्रदेश में दूरसंचार अवसंरचनाओं/ सुविधाओं का विस्तार प्राथमिकता से किया जा रहा है। इसके लिए दूरसंचार अवसंरचना / सुविधा सेवा प्रदाताओं द्वारा भूमिगत ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने के लिए आवश्यकतानुसार खुदाई / उत्खनन का कार्य किया जाता है। खुदाई के दौरान पूर्व में स्थापित आधारभूत संरचना क्षतिग्रस्त होती है तथा इससे समय एवं धन का अपव्यय होता है। अब CBuD एप्प से सारी प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

उल्लेखनीय है कि भूमिगत खुदाई से संसाधनों को क्षति होने से बचाव के लिए केन्द्र सरकार के संचार मंत्रालय, दूरसंचार विभाग ने Call Before you Dig (CBuD) App बनाया है। इस App पर विभिन्न एजेन्सियों द्वारा भूमिगत खुदाई करने से पूर्व संबंधित क्षेत्र/स्थान का विस्तृत विवरण देना होता है। इस App पर दर्ज प्रविष्टियों के अवलोकन एवं निगरानी के लिए जिलों में कार्यरत दूरसंचार अवसंरचना सेवा प्रदाताओं एवं भारत सरकार तथा राज्य शासन के संबंधित कार्यालयों के अधिकारियों से सम्पर्क/समन्वय स्थापित कर सुसंगत अनुमति आनलाइन ले सकेंगी।

प्रो. के. श्रीनाथ रेड्डी टॉस्क फोर्स समिति के अध्यक्ष मनोनीत

भोपाल। राज्य शासन द्वारा प्रदेश में मातृ मृत्यु दर, नवजात शिशु मृत्यु दर, शिशु मृत्यु दर एवं कुपोषण (स्टंटिंग) को कम करने के उद्देश्य से टॉस्क फोर्स समिति का गठन किया गया था। आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए प्रो. शमिका रवि अध्यक्ष टॉस्क फोर्स के स्थान पर प्रो. के. श्रीनाथ रेड्डी को टॉस्क फोर्स समिति का अध्यक्ष मनोनीत किया गया है।

Related posts