37.1 C
Bhopal
April 24, 2024
ADITI NEWS
सामाजिक

मुरैना अधिकारी योजनाओं को पंचवर्षीय बनाकर कार्य न करें – कलेक्टर

मुरैना। प्रदेश सरकार की योजनाओं को अधिकारी त्वरित गति से निराकरण करने के प्रयास करें। मार्च नजदीक है, किसी भी विभाग की योजनाओं का बजट लैप्स नहीं होना चाहिये। अधिकारी ऐसे प्रयास करें कि योजनाओं में गति आये, पंचवर्षी, योजना बनाकर कार्य नहीं करें। ये निर्देश कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने सोमवार को टीएल बैठक के दौरान समस्त जिलाधिकारियों को दिये। इस अवसर पर उन्होंने 2 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस तथा पात्रता पर्ची शतप्रतिशत वितरण न होने पर जिले के समस्त जेएसओ का वेतन आगामी आदेश तक आहरित नहीं करने के निर्देश जिला कोषालय अधिकारी को दिये। बैठक में अपर कलेक्टर श्री उमेशप्रकाश शुक्ला, संयुक्त कलेक्टरी श्री संजीव जैन, श्री एलके पाण्डे, नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता, समस्त एसडीएम, समस्त जिलाधिकारी, सीएमओ, जनपद सीईओ एवं तहसीलदार उपस्थित थे। 
    कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने कोविड की समीक्षा की, जिसमें उन्होंने सीएमएचओ को निर्देश दिये कि प्रतिदिन 300 सेम्पल से कम नहीं होना चाहिये। उन्होंने कोविड वैक्सीन के संबंध में समीक्षा की, जिसमें दूसरे राउण्ड में जिले का वैक्सीनेशन 64 प्रतिशत रहा। जिसमें नगर निगम का 50 प्रतिशत, राजस्व का 49, पुलिस का 82, ग्रामीण विकास का 73 प्रतिशत कोविड वैक्सीन टीका लगाया। इस पर उन्होंने नगर निगम कमिश्नर को 17 एवं 19 फरवरी तक शतप्रतिशत टीका लगवाने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने जिले में शतप्रतिशत ईमनाईजेशन (टीकाकरण) हो, इसके लिये समस्त एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में टीकाकरण करावें। किसी बच्चे की जिंदगी से खिलवाड़ न होने दें। उन्होंने कहा कि कैलारस में 85, पहाडगढ़ में 82, मुरैना में 79 प्रतिशत टीकाकरण बच्चों का हुआ है। यह स्थिति अच्छी नहीं है, मुझे प्लानिंग के साथ कार्य चाहिये। कम से कम 90 से 95 प्रतिशत टीकाकरण होना सुनिश्चित करें।
आयुष्मान कार्ड की समीक्षा की
    कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने आयुष्मान भारत कार्ड की समीक्षा की, जिसमें 10 लाख 18 हजार 478 आयुष्मान कार्ड बनाये जाने थे, जिनमें मात्र आज दिनांक तक 4 लाख 2 हजार 888 कार्ड बनाये गये है। इसके लिये जिले में 280 लोंगो को कार्ड बनाने की टीम लगाई है। यह कार्य 31 मार्च तक पूर्ण करना है। इस धीमी गति से कार्य हुआ तो लक्ष्य कभी पूर्ण नहीं हो सकता। उन्होंने सभी 280 लोंगो को प्रतिदिन 50-50 कार्ड बनाने का लक्ष्य दिया है, तभी एक दिन में 14 हजार कार्ड बन सकेंगे। तभी हम 31 मार्च तक लक्ष्य पूर्ण कर पायेंगे।
    कलेक्टर ने हाईरिस्क मदर, स्ट्रीट वेण्डर, मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण की समीक्षा की, जिसमें पहाडगढ़, अम्बाह, कैलारस, मुरैना, सबलगढ़ को 200-200, जौरा को 300 हितग्राहियों को इस सप्ताह बैंको द्वारा लाभान्वित किया जाना है। कलेक्टर ने बैंकलिकिंग की समीक्षा की, जिसमें उन्होंने अगले सप्ताह 200 समूहों को लाभान्वित करने के निर्देश दिये। 
    कलेक्टर ने पोषण पुर्नवास, पोषण आहार एवं आंगनवाड़ी केन्द्र खुलने की समीक्षा की, जिसमें उन्होंने समस्त एसडीएम, जनपद सीईओ को निर्देश दिये कि आंगनवाड़ियों में प्रतिदिन नाश्ता आदि वितरण हो, इसके लिये एक-एक घंटे का समय निकालकर आंगनवाड़ियों की मॉनीटरिंग व निरीक्षण अवश्य करें। कलेक्टर ने आंगनवाड़ी भवन निर्माण की समीक्षा की, जिसमें उन्होंने कहा है कि 34 आंगनवाड़ी केन्द्रों में से 8 आंगनवाड़ियों का पैसा वापस किया जा चुका है। 26 का स्थल चयन कर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इस कार्य को प्राथमिकता दें।
खाद्यान्न समय पर शतप्रतिशत वितरण हो
    कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि राशन वितरण में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। हितग्राही को राशन समय पर मिले, इसके लिये जेएसओ पूरे दिन मॉनीटरिंग कर राशन समय पर वितरण करायें। उन्होंने कहा है जिले में 2 लाख 21 हजार 184 टोटल कार्ड धारी है, जिसमें कल्याणी महिलाओं को चिन्हित करें, वे महिलाओं राशन लेने नहीं आती है तो उनके घर तक पहुंचाने के लिये लिस्टिंग बनाये। 
नवीन पात्रता पर्ची की हुई समीक्षा    कलेक्टर ने कहा कि जिले में नवीन पात्रता पर्ची मात्र 74 प्रतिशत वितरित हुई है, जिन्हें शतप्रतिशत वितरण किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इसका सर्वे किया जाये कि कितने ऐसे व्यक्ति है, जो खाद्यान्न नहीं ले रहे है और ऐसे कितने व्यक्ति है, जो पात्रता धारी नहीं है तथा ऐसे कितने पात्रता पर्चीधारी है, जिनकी गलती से पर्ची बनाई गई है। उन्होंने 74 प्रतिशत पात्रता पर्ची वितरण करने पर जिले के समस्त जेएसओ का वेतन आगामी आदेश तक रोकने के निर्देश दिये तथा खाद्य नियंत्रण अधिकारी श्री भीकम सिंह तोमर को कारण बताओ नोटिस तथा 3 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये।
पंजीयन में तेजी लायें
    कलेक्टर ने कहा है कि रबी विपणन वर्ष 2021-22 के लिये पंजीयन का कार्य 20 फरवरी तक 67 केन्द्रों पर किया जाना है, जिसमें अभी तक मात्र 10 हजार 771 किसानों का पंजीयन किया गया है, जबकि जिले का कुल रकवा 24812.98 हेक्टेयर सिंचत, असिंचत क्षेत्र में फसलें बोई गई है। जबकि पिछले वर्ष 48 केन्द्रों पर गेहूं का 19 हजार 673, सरसों का 20 हजार 233 और चना का 386 कृषकों ने पंजीयन कराया था।
    उन्होंने बताया कि अभी तक जिले में गेहूं का 8 हजार 710, चना का 2 हजार 68, सरसों का 8 हजार 99 किसानों का पंजीयन हुआ है।
बायोगैस प्लांट की भी समीक्षा की
    कलेक्टर ने जिले में 90 बायोगैस की समीक्षा की। जिनमें अभी तक 40 बायोगैस बनाये गये है, इस सप्ताह 30 और बायोगैस बनाने का आश्वासन सहायक संचालक कृषि श्री बीडी नरवरिया ने दिया।
    उन्होंने उद्यानिकी विभाग की समीक्षा की, जिसमें फल उद्यान नरेगा के तहत डीपीआर 24 में से 18 स्वीकृत की गई थी तथा 5 पर कार्य प्रारंभ होना बताया। इस पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा है कि ऐसे किसानों का चयन करें, जिनके पास सिंचाई के साधन हो, फसल कटने के बाद वह फल उद्यान तैयार कर सकें। मैं एक भी शब्दों को नहीं सुनूंगा कि पौधे नहीं मिले थे, फसल नहीं कटी है या जिन किसानों का चयन किया है उनके पास सिंचाई के साधन नहीं है। यह सुनिश्चित करना उद्यानिकी अधिकारी का होगा। अधिकारी इस प्रकार की धीमी गति से योजनाओं में कार्य न करें, जो पंचवर्षीए योजना बनकर रह जाये।
पीएम स्वनिधि योजना की समीक्षा की
    कलेक्टर ने कहा है कि जिले में 10 हजार 614 लोंगो को प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर निधि योजना से लोंगो को लाभान्वित करना था, जिसमें जिले की प्रगति की 55.05 पर है। इसे लक्ष्य मानकर और बढ़ाया जाये। उन्हांेने रोजगार मेले के लिये जिला रोजगार अधिकारी को फरवरी माह में 500 का टारगेट दिया, इसके लिये उन्होंने जीएम डीआईसी को भी सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने सीएम मॉनीटरिंग की समीक्षा की, जिसमें डिप्टी कलेक्टर श्री सुरेश बराहदिया प्रजेन्टेशन की स्लाइड प्रस्तुत न कर सकें । इस पर उन्होंनें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।

Aditi News

Related posts