26.8 C
Bhopal
July 16, 2024
ADITI NEWS
सामाजिक

सिहोरा, मझगवां और गांधीग्राम कब बनेंगे नगर पंचायत  लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने सरकार पर लगाया संपूर्ण सिहोरा की उपेक्षा का आरोप समिति का 90 वां धरना संपन्न

मझगवां और गांधीग्राम कब बनेंगे नगर पंचायत

 लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने सरकार पर लगाया संपूर्ण सिहोरा की उपेक्षा का आरोप

समिति का 90 वां धरना संपन्न

सिहोरा – आज से 157 साल पहले अंग्रेजों ने सिहोरा को नगर पालिका का दर्जा दिया था उसके बाद संपूर्ण विधानसभा में कोई भी ऐसी स्थिति नहीं बनी कि किसी भी क्षेत्र को विशेष दर्जा मिला हो ।लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने वर्तमान सरकार पर उक्त आरोप लगाते हुए मांग की कि सिहोरा विधानसभा के अंतर्गत आने वाले मझगवां और गांधीग्राम को अब ग्राम पंचायत से नगर पंचायत का दर्जा दिया जाना चाहिए ।यह बात लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने अपने आंदोलन के 90 में धरने में सिहोरा बस स्टैंड में कहीं ।

1867 में बनी थी सिहोरा नगर पालिका – लक्ष्य जिला आंदोलन समिति ने पुराने बस स्टैंड में चल रहे धरने में बताया कि अंग्रेजों के शासन काल में 1867 में सिहोरा को नगर पालिका का दर्जा दिया था। संपूर्ण विधानसभा में किसी भी विशेष ग्राम को नगर पंचायत या तहसील का दर्जा प्राप्त नहीं हुआ है ।वही मुख्यमंत्री रोज नए तहसील और नगर पंचायतों को बनाने की घोषणाएं कर रहे हैं।

सिहोरा की उपेक्षा जारी- जिला आंदोलन समिति के कृष्ण कुमार कुररिया ने अपने भाषण में कहा की वर्ष 2001 से वर्ष 2003 के मध्य सिहोरा को जिला बनाने की संपूर्ण प्रशासनिक और विभागीय प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई थी लेकिन सिहोरा के प्रति उपेक्षा के चलते आज तक सिहोरा जिला की अंतिम अधिसूचना जारी नहीं हो सकी है ।आंदोलन समिति ने मध्य प्रदेश सरकार पर सिहोरा की उपेक्षा के गंभीर आरोप अपने उद्बोधन में लगाएं।

विपक्ष ने दिया सहारा-3 अक्टूबर 2021 से लगातार चल रहे सिहोरा जिला बनाओ धरने का सफल पक्ष यह रहा कि आज संपूर्ण विधानसभा में यह बात जन-जन तक पहुंच चुकी है कि भारतीय जनता पार्टी सिहोरा जिला के पक्ष में नही है। भाजपा के रहते सिहोरा किसी स्थिति में जिला नहीं बन सकता है। मौके की नजाकत को देखते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सिहोरा आकर यह घोषणा की कि उनकी सरकार आते ही सिहोरा को जिला का दर्जा दिया जाएगा।

निर्णय अब जनता के हाथों में – एक तरफ सत्तारूढ़ भाजपा ने जिला मुद्दे पर दूरी बना रखी है वहीं विपक्ष सत्ता में आते ही जिला बनाने की बात कर रहा है। ऐसे में सारा दारोमदार अब सिहोरा की आम जनता पर है। अब आने वाले विधानसभा चुनाव में यह बात सामने आएगी कि जनता सिहोरा जिला मुद्दे पर पीठ दिखाने वालों को क्या सबक सिखाती है ।

90 वें धरने में समिति के अनिल जैन मानस तिवारी अमित बख्शी नत्थू पटेल सुशील जैन,विकास दुबे ,वीरेंद्र दुबे ,रामलाल साहू ,मोहन सोंधिया, पन्नालाल, रामजी शुक्ला, अशोक विश्वकर्मा सहित अनेक सिहोरा वासी मौजूद रहे।

Aditi News

Related posts