19.1 C
Bhopal
December 5, 2021
ADITI NEWS
क्राइम

नरसिंहपुर, ललित श्रीवास्तव का अपहरण कर मारपीट करने वाले सटोरिया के खिलाफ पत्रकारों ने पुलिस अधीक्षक व कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर सख्त कार्यवाही की मांग की

नरसिंहपुर। शहर में स्टेशनगंज के सटोरिए आतंक मचाए हुए हैं।अवैध ब्याज वसूली और भोले-भाले लोगों की संपत्ति हड़पने के साथ-साथ वे जुआ-सट्टा भी खुलेआम खिला रहे हैं। इन अवैध धंधों का विरोध करने पर उन्हें और उनके परिवार को जान से मारने की कोशिशों से भी ये बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक घटनाक्रम बीती बुधवार की रात तब देखने को मिला जब सट्टा माफिया ने जय रेवाखंड के जिलाध्यक्ष ललित श्रीवास्तव का अपहरण कर उनके साथ जमकर मारपीट की। जैसे-तैसे वे अपनी जान बचाकर थाने पहुंचे। जहां उन्होंने रिपोर्ट दर्ज कराई। एसपी के अनुसार सटोरिए रिक्की ठाकुर के खिलाफ जिलाबदर की कार्रवाई की जा रही है।
स्टेशनगंज क्षेत्र का रहने वाला रिक्ककी ठाकुर लंबे समय से जुआ, सट्टा, अवैध शराब जैसे प्रतिबंधित कारोबार में लिप्त रहा है। इसे लेकर शहर के जागरूक नागरिकों द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा था। इसी क्रम में पिछले दिनों जय रेवाखंड के जिलाध्यक्ष व मीडियाकर्मी ललित श्रीवास्तव ने एक स्टिंग कर इसके अवैध कारोबारों का वीडियो बनाकर उसे इंटरनेट माध्यमों पर प्रसारित कर दिया था। इसके बाद रिक्ककी ने ललित को जान से मारने की धमकी तक दी थी। हालांकि संबंधित व्यक्ति ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बीती बुधवार की देर शाम जब ललित श्रीवास्तव दादा महाराज से लौट रहे थे तो रिक्ककी ठाकुर व उसकी गैंग के लोगों ने उन्हें रोककर अगवाकर लिया और हाइवे के पास किसी गार्डन के पास ले जाकर बुरी तरह से धुनाई कर दी।इसमें उनके सीने, चेहरे, हाथ-पैर में अंदरूनी चोटें आईं। इस घटनाक्रम में ललित किसी तरह से अपनी जान बचाकर भागे और सीधे स्टेशनगंज थाना पहुंचे। जहां उन्होंने आपबीती सुनाई। इसके बाद पुलिस तत्काल हरकत में आई और पुलिस ने आरोपित रिक्की ठाकुर व अन्य के खिलाफ अपहरण की कोशिश, मारपीट, जबरिया रास्ता रोकथाम, जान से मारने की धमकी आदि के तहत अपराध दर्ज किया। पीड़ित का मेडिकल चेकअप भी देर रात कराया गया। गुरुवार को ललित श्रीवास्तव के साथ हुए घटनाक्रम की जानकारी जैसे ही सार्वजनिक हुई जागरूक नागरिकों के संगठन समेत मीडियाकर्मियों ने सबसे पहले नृसिंह भवन पहुंचकर कलेक्टर रोहित सिंह से आरोपित रिक्की ठाकुर के जिलाबदर की मांग की। इसके बाद एसपी विपुल श्रीवास्तव को भी शिकायत देकर आरोपित को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग दोहराई। इस पर एसपी का कहना था कि विशेष टीम बनाकर आरोपित की तलाश की जा रही है। चूंकि रिक्की ठाकुर के खिलाफ जिलाबदर की कार्रवाई बीती 22 अक्टूबर से ही प्रस्तावित है, इसलिए कलेक्टर से जल्द ही इस पर निर्णय लेने का आग्रह किया गया है।इसके साथ ही जिलेभर में गुपचुप तरीके से चल रहे सट्टा-जुआ के कारोबार पर लगाम कसने की मांग की गई है। अधिकारियों ने अपराधियों पर शिकंजा कसकर उन्हें सलाखों के पीछे करने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन सौंपने वालों में सभी वर्ग के लोग शामिल रहे। इनमें प्रमुख रूप से वरिष्ठ पत्रकार नीलेश जाट, संजय जैन, विमल बानगात्री, अविनाश राव, समीर खान, अमर नौरिया, भोला ठाकुर, नरेंद्र श्रीवास्तव, अंचल यादव, मनजीत छाबड़ा, भागीरथ तिवारी, कौशलेंद्र जाट, संदीप दुबे, पंकज साहू, श्रीकांत मिश्रा, पंकज गुप्ता, राजकुमार दुबे, आनंद श्रीवास्तव आदि शामिल थे।
इनका ये है कहना ललित श्रीवास्तव की रिपोर्ट पर हमने आरोपित रिक्की ठाकुर व उसके साथियों के खिलाफ अपहरण की कोशिश, मारपीट आदि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं, उसके घर व अन्य ठिकानों पर छापामारी की जा रही है।
जितेंद्र गढ़ेवाल, थाना प्रभारी, स्टेशनगंज नरसिंहपुर।
पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव का कहना है कि सटोरिए रिक्की ठाकुर की आपराधिक गतिविधियों में लगातार संलिप्तता को देखते हुए हमने बीती 22 अक्टूबर को ही इसके जिलाबदर का प्रस्ताव कलेक्टर के समक्ष पेश कर दिया है। हमने आज ही उनसे बात की है। जल्द ही उसका जिलाबदर किया जाएगा। गैर जमानती धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। अवैध कारोबारियों को हम नहीं बख्शेंगे।

कलेक्टर रोहित सिंह का कहना है कि घटना निश्चित रूप से निंदनीय है। किसी भी तरह के अवैध कारोबारी को बख्शा नहीं दिया जाएगा। जिलाबदर का जो प्रस्ताव मेरे न्यायालय में भेजा गया है, उसको मैं दिखवाता हूं, जल्द निर्णय होगा ताकि अपराधियों के हौसले बुलंद न हो सकें।आम आदमी की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

Related posts