24.1 C
Bhopal
August 18, 2022
ADITI NEWS
व्यापार समाचार

एमएसएमई मंत्री सखलेचा की मौजूदगी में वालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच एमओयू

एमएसएमई सेक्टर को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिलेगी

मध्यप्रदेश को आत्म-निर्भर बनाने की सुनियोजित नीति के तहत मंगलवार को एमएसएमई विभाग ने मध्यप्रदेश के 14 लाख से अधिक नवउद्यमियों के उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय गुणवत्ता का बनाने और प्रतिस्पर्धा तथा मार्केटिंग चेन बनाने के लिए वालमार्ट एवं फ्लिपकार्ट के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा की उपस्थिति में विभाग के सचिव श्री पी नरहरि और वालमार्ट के डायरेक्टर श्री जोसफ जूलियन के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर तथा आदान-प्रदान हुआ। फ्लिपकार्ट के रीजनल हेड श्री डी पी वानकानी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

कुशाभाऊ ठाकरे हाल (मिंटो हाल) में सम्पन्न हुए समारोह में मंत्री श्री सखलेचा ने कहा कि चाहे कलस्टर आधारित उद्यम हों, एक जिला-एक उत्पाद हों अथवा नव उद्यमियों के स्वयं के उत्पाद, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मार्केटिंग के साथ प्रतिस्पर्धात्मक लागत और मूल्य एवं तकनीकी के इस्तेमाल से नव उद्यमियों को इस एमओयू से संबल मिलेगा। यह एमओयू रिटेल और होलसेल मार्केटिंग के साथ ही उत्पाद की पैकिंग, प्रतिस्पर्धा, गुणवत्ता और लागत को उपभोक्ता के हिसाब से सुनिश्चित करने के लिए नवउद्यमियों को प्रशिक्षित भी करेगा।

मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा कि आज प्रदेश के तकरीबन 14 लाख उद्यमी एमएसएमई सेक्टर में पंजीबद्ध हैं । उन्होंने कहा कि उत्पादों की ग्रेडिंग और मार्केटिंग के लिए ख्यातिलब्ध ई-कॉमर्स संस्थाओं के नेटवर्किंग का हिस्सा बने बिना प्रदेश के उद्यमियों के लिए अपने उत्पाद की पहचान बना पाना असंभव सा है। उन्होंने कहा कि इससे पहले देश की सीएसआईआर की 36 लैब से एमओयू के पीछे भी यह धारणा थी कि एमएसएमई सेक्टर को प्रौद्योगिकी और लगातार परिवर्तित हो रही तकनीकी से सतत मदद मिलती रहे।

मंत्री श्री सखलेचा ने उम्मीद जताई कि वालमार्ट और फ्लिपकार्ट अन्य राज्यों की तुलना में मध्यप्रदेश को विशेष दर्जा देकर यहां के उत्पादों का प्रचार अंतिम उपभोक्ता तक करेंगे। उन्होंने कहा कि आज की यह छोटी शुरूआत धीरे – धीरे रंग लाएगी और प्रदेश के उत्पाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक धूम मचाएंगे।

आयुक्त और एमएसएमई सचिव श्री पी. नरहरि ने कहा कि इस एमओयू से मध्यप्रदेश के उद्यमियों के उत्पादों के लिए देश और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपभोक्ताओं के बीच नए द्वार खुलेंगे। इस एमओयू में नए-नए माड्यूल, उद्योगों के विकास, प्रशिक्षण, सेमीनार आदि को भी समाहित किया गया है। राज्य के नव उद्यमी इससे लाभांवित होंगे। नेटवर्किंग आज बड़ी जरूरत है और सही प्लेटफार्म के कारण उत्पादों की मार्केंटिंग में होने वाली कमी को भरने में इस एमओयू से मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि एमएसएमई विभाग कलस्टर, ‘एक जिला-एक उत्पाद’ के उत्पादों का जिला स्तर पर हब बनाए जाने के लिए प्रयासरत है ।

वालमार्ट वृद्धि के डायरेक्टर श्री जोसफ जूलियन ने उनकी संस्था को यह अवसर देने के लिए मध्यप्रदेश शासन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वे उद्योगों के विकास, बाजार और प्रतिस्पर्धा के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अनेक उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय पहचान तथा मार्केट उपलब्ध करवाना उनका ध्येय होगा। फ्लिपकार्ट के रीजनल हेड श्री डी पी वेलीकान ने कहा कि मध्यप्रदेश की उद्योग मित्र नीतियां उनके नेटवर्क के अनुकूल हैं। उन्होंने कोरोना काल में राज्य शासन द्वारा उद्योगों को दी गई सहूलियतों का उल्लेख करते हुए कहा कि फ्लिपकार्ट एमएसएमई सेक्टर को आगे ले जाने का हर संभव प्रयास करेगा।

Related posts