30.4 C
Bhopal
May 28, 2022
ADITI NEWS
शिक्षा

गाडरवारा,हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

पालकों ने थाली बजाकर शुरू किया कार्यक्रम

गाडरवारा। क्षेत्र में कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के चलते शासन के आदेशानुसार कक्षा 1 से 12 वी तक के सभी स्कूल बंद हो गए है। ऐसी स्तिथि में शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कुलो के छात्र छात्राओं को पढ़ाई से जोड़े रखने के लिए राज्य शिक्षा केन्द्र के आदेशानुसार जिले सहित साईंखेड़ा एवं चीचली ब्लॉक में हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम की शुरुआत गत दिवस हो गई। हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम के अंतर्गत सोमवार से ही छात्र छात्राओं के प्रतिदिन एवं नियमित अध्ययन हेतु उनके घर मे ही शाला जैसा वातावरण निर्मित कर शैक्षिक गतिविधियां संचालित की गई। इसके साथ ही बच्चों ने अपने घर के वातावरण , परिवेश एवं परिवार के बुजुर्गों व बड़े भाई बहिनों के सहयोग से घर पर ही रहकर पढ़ाई शुरू कर दी। इस कार्यक्रम के अंतर्गत सुबह 10 बजे विद्यार्थियों के परिवार के सदस्यों द्वारा घर पर ही घन्टी या थाली बजाकर बच्चों को पढ़ाई के लिए नियत जगह पर बैठाया। बच्चों ने सुबह 10 से 11 बजे तक डिजिलेप सामग्री , 11 से 12 बजे तक रेडियो स्कूल एवं 12 से 1 बजे तक अभ्यास पुस्तिका पर कार्य किया। सोमवार को साईंखेड़ा ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पाली में शासकीय प्राथमिक शाला के प्रभारी सिराज अहमद सिद्दिकी एवं ब्रजेश श्रीवास ने शाला के 5 बच्चों पर एक मेंटर की व्यवस्था कर शेक्षणिक सामग्री कक्षाओं वाले घरों तक पहुंचाई। बीएसी योगेन्द्र झारिया ने इस अवसर पर मेंटर योगिता चौहान, जितेंद्र राजपूत, भगवान सिंह धानक, तरुण धानक को जरूरी निर्देश देते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विदित हो की कार्यक्रम के सुचारू ढंग से संचालन हेतु राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा परिवार के सदस्यों, शिक्षको एवं अधिकारियों को अलग अलग जिम्मेदारियां दी गई है। परिवार के सदस्य बच्चों को घर पर पढ़ाई का स्थान निर्धारित करने के अलावा उन्हें मोबाइल, लेखन सामग्री उपलब्ध करायेंगे। इस कार्यक्रम में शिक्षक प्रतिदिन बच्चों के मोबाइल पर डिजिलेप सामग्री भेजेंगे एवं मोबाइल से वंचित 5 बच्चों के घर जाकर प्रतिदिन उनसे सम्पर्क कर शैक्षिक गतिविधियों का अवलोकन करते हुए कापियों की जांच कर फीडबैक देंगे। शालाओं के प्रधान अध्यापक शिक्षको से चर्चा कर हमारा घर हमारा विद्यालय के क्रियान्वयन की जानकारी लेंगे एवं छात्र छात्राओं को घर पर पढ़ाई हेतु प्रेरित करेंगे। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए राज्य शिक्षा केंद्र ने अधिकारियों को सतत मॉनिटरिंग के निर्देश दिए है।

Related posts