27.1 C
Bhopal
February 5, 2023
ADITI NEWS
क्राइम

दतिया के प्रसिद्ध सिद्धक्षेत्र सोनागिर में हुई डकैती की वारदात का पुलिस ने किया खुलासा

दतिया। फरियादी हरिमोहन यादव निवासी महेवा (मंदिर का गार्ड) ने 10 सितंबर को घायल अवस्था मे जिला अस्पताल में रिपोर्ट किया कि कल रात 09 सितंबर को मै और सैनिक आनंद चंदा प्रभू मंदिर में रात्रि ड्यूटी कर रहे थे। तभी रात्रि करीब डेढ दो बजे मंदिर के पीछे के गेट का ताला तोडकर 78 हथियारबंद बदमाश हाथ मे कट्टा, सरिया, लाठी लेकर आये और हम दोनो की मारपीट कर बंधक बनाकर मंदिर के पीछे ले गये फिर बदमाशों ने मंदिर के अंदर जाकर मंदिर की दोनो कांच की दानपेटी तोडकर उसमे रखी रकम लूट कर सभी सीसीटीव्ही कैमरे तोड दिए एवं कैमरे की रिकार्डिंग वाला डीवीआर एवं हमारे मोबाईल छीन कर ले गये।

सूचना पर थाना सोनागिर में अपराध क्र. 76/22 धारा 395 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। घटना की जानकारी मिलते ही  पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर अपने जिले की टीम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य, एसडीओपी बडोनी दीपक नायक, एसडीओपी दतिया प्रियंका मिश्रा, एफएसएल अधिकारी श्री सतीश मान एवं प्रिंगर प्रिन्ट जीतेन्द्र संगर एवं डॉग स्कॉड एवं सायवर सेल को लेकर पहुंच कर घटना स्थल का निरीक्षण किया एवं मंदिर प्रबंधक श्री संदीव जैन, बालचन्द्र जैन एवं मुकेश जैन से चर्चा कर घटना घटित करने वाले आरोपियों को शीघ्र पकड़ने हेतु आश्वत किया। घटना की जानकारी प्राप्त होने पर अति. पुलिस महानिदेशक चंबल जोन श्री राजेश चावला घटना स्थल पर पहुंचे एवं उपस्थित समस्त पुलिस पुलिस अधिकारीगण को आरोपीगणों के शीघ्र पकडेने हेतु निर्देशित किया एवं प्रत्येक आरोपी पर 30-30 हजार रुपये का इनाम घोषित किया।

पुलिस अधीक्षक दतिया श्री अमन सिंह राठौर ने एसआईटी टीम का गठन अति. पुलिस अधीक्षक. श्री कमल मौर्य के नेतृत्व में किया तथा टीम में दीपक नायक एसडीओपी बडोनी, कर्णिक श्रीवास्तव एसडीओपी भाण्डेर वैभव गुप्ता थाना प्रभारी डीपार, अजय अम्बे थाना प्रभारी चिरुला विजय लोधी थाना प्रभार, यादवेन्द्र सिंह गुर्जर थाना प्रभारी उनाव, रिपुदमन सिंह राजावत थाना प्रभारी पंडोखर रचना माहौर थाना प्रभारी सिनावल . आकाश संसिया थाना प्रभारी थाना सरसई नीरज थाना प्रभारी जिगना सायवर सेल प्रभारी एएसआई संजीव सिंह सम्मिलित किये गये।

पुलिस अधीक्षक श्री अमन सिंह राठौड द्वारा प्रत्येक टीम को अलग अलग कार्य दिए जाकर स्वयं प्रकरण की सतत् मॉनीटरिंग की गई एवं टीमो द्वारा शहर के प्रवेश एवं बाहर आने जाने वाले रास्तों पर लगे 100 से अधिक सीसीटीव्ही फुटेज एकत्रित कर देखे गये एवं कई सम्भावित स्थानों से तकनीकी साक्ष्य संकलित कर विश्लेषण किया गया एवं संदिग्ध मोबाईल नंबरो की सीडीआर का विश्लेषण किया गया। तकनीकी साक्ष्य विश्लेषण से लल्ला उर्फ पंजाब परिहार निवासी सेवनी के संबंध में मुखबिर मामूर किए। 14 सितंबर जरिए मुखबिर सूचना मिली कि आरोपी पंजाब परिहार बडौनी तरफ देखा गया है तुरंत एसआईटी टीम द्वारा पुलिस अभिरक्षा में लेकर नाम-पता पूछा तो अपना नाम लल्ला उर्फ पंजाब परिहार उम्र 25 साल निवासी सेवनी से पूछताछ की तो आरोपी द्वारा घटना दिनांक को अपने साथियों सुनील कुशवाह पुत्र शीतल कुशवाह निवासी सेवनी, रवि परिहार निवासी घुसी, भूरा कुशावाह पुत्र भिट्टा कुशवाह निवासी दतिया, भूरा उर्फ सगुन केवट निवासी कुलैथ, सुनील कुशवाह निवासी खिरिया एवं दो अन्य साथियों के साथ चंदा प्रभु मंदिर में रखी दानपेटी की राशि लूटना स्वीकार किया।

आरोपी सुनील कुशवाह बीसपंथी धर्मशाला मे अपने पिता शीतल कुशवाह के साथ साफ सफाई का काम करता था सुनील की शराब पीकर मंदिर पर जाने की आदत से धर्मशाला वालों ने उसे काम से निकाल दिया था फिर सुनील पिछले 15 20 दिन पहले कुंदकुंद धर्मशाला में साफ- सफाई का काम करने लग गया था। लेकिन यहां भी शराब पीकर काम करने आने पर धर्मशाला मैनेजर ने उसे सात सितंबर को काम से निकाल दिया था। इसी बात से नाराज होकर सुनील कुशवाह के मन में जैन मंदिर को लूटने का लालच आ गया। इसके लिये सुनील ने अपने साथी लल्ला परिहार से बात की एवं 08 सितंबर को आरोपी सुनील कुशवाह एवं लल्ला परिहार निवासीगण सेवनी ने आपस मे चंदा प्रभू मंदिर मे रखी दानपेटी लूटने की योजना बनाई क्योकि सुनील ने बताया कि अभी जैनो के त्यौहार चल रहे है मंदिर में काफी धनराशि दानपेटी में एकत्रित है। सुनील कुशवाह ने बताया कि मै मंदिर में साफ सफाई करने जाता था तो मैने चंदा प्रभू मंदिर में सभी रास्ते देखे है फिर हम दोनो ने पीछे का रास्ते को घटना के पहले देखा दोनो ने आपस मे मंदिर में डकैती डालने के लिए अपने साथी रवि परिहार निवासी घूवसी, भूरा कुशवाह पुत्र भिड्डा कुशवाह निवासी दतिया, भूरा उर्फ सगुन केवट निवासी कुलैथ सुनील कुशवाह निवासी खिरिया को  08 सितंबर को सोनागिर बुलाया एवं पहाड़ी के पीछे बडोनी रोड पर बैठकर योजना बनाई। बाद  10 सितंबर को हम सभी महेवा की पुलिया पर मिले जहां भूरा केवट अपने साथ दो लडके ओर लाया था और बताया कि ये लोग भी साथ चलेंगे फिर हम लोग रात्रि में करीब 10 बजे एक एक करके 5 लोग सेवनी तरफ से एवं 3 लोग बडोनी तरफ से पहाड़ी की झाडियों में जाकर बैठ गए। हम लोग 4 कट्टे, 1 अधिया, सरिया, लाठी, रस्सा, बोरी आदि लेकर आए थे फिर रात्रि करीब 1 बजे हम लोग पहाड़ी पर चडे और मंदिर के पीछे की बाउंड्री पर मिले। फिर ऊपर मंदिर की रेलिंग पर रस्सा डालकर मंदिर पर प्रवेश किया रवि के पास सरिया था जिससे हम लोगो ने मंदिर के पीछे का ताला तोडा और सभी एक साथ मंदिर के अंदर मुंह बांधकर घुसे और सो रहे दोनो गाडों को बंधक बनाकर मारपीट कर मंदिर के पीछे ले गये रवि परिहार दोनो गार्डों के पास कट्टा अडाकर खड़ा रहा। फिर हम सभी ने मंदिर के अंदर जाकर पहले सीसीटीव्ही कैमरे तोडे एवं मंदिर मे लगा डीवीआर भी तोड़कर निकाल लिया उसके बाद मंदिर मे रखी कांच की दानपेटियों को तोड़कर उसमे रखी धनराशि बोरे में भरकर ले गए एवं डीवीआर व दोनो गार्डों के मोबाईल भी छीनकर मंदिर के पीछे वाउंड्री फांदकर वापस उसी रास्ते से नीचे उतरकर आगे पीछे चलकर बडोनी तरफ चले गये। बडौनी मे गुप्तेश्वर मंदिर के पास पहाडियों के पीछे हम लोग इकट्टा हुए और लूट की गई रकम में से सुनील के हिस्से में साठ हजार रूपये एवं लल्ला परिहार के हिस्से में पैंतालीस हजार रूपये आए आरोपी लल्ला परिहार एवं सुनील कुशवाह ने बताया कि मंदिर की डीवीआर हम दोनो ने पत्थर से कुचलकर रामसागर तालाब में फेंक दी है। एवं दोनो गार्डों के मोबाईल तोडकर मंदिर के पीछे पहाड़ की झाडियों में फेंक दिए थे। एक मोबाईल की चिप मुझे मिल गई थी जिसे में अपने साथ ले गया।

उक्त आरोपियों की गिरफ्तारी होते ही अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु टीमे रवाना हुई लेकिन आरोपीरवि परिहार निवासी घूवसी, भूरा कुशवाह पुत्र भिड्डा कुशवाह निवासी दतिया, भूरा उर्फ सगुन केवट निवासी कुलेथ, सुनील कुशवाह निवासी खिरिया एवं दो अन्य लोग घटना दिनांक से अपने अपने घरो से फरार है जिन्हें शीघ्र ही गिरफ्तार किया जावेगा।

Related posts