13.4 C
Bhopal
November 30, 2022
ADITI NEWS
रोजगारव्यापार समाचार

एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत चयनित संतरा फसल ने बदली शाहरूख की तकदीर

एक जिला एक उत्पाद राज्य शासन की एक ऐसी अभिनव योजना है जो जिले को एक अलग पहचान देती है। छिंदवाड़ा जिले की सौंसर और पांदुर्णा तहसील संतरा उत्पादन के लिये अनेक वर्षों से प्रसिध्द है । इस क्षेत्र में उत्पादित संतरे की गुणवत्ता देश-विदेश में विख्यात है । जिले में संतरा उत्पादन को बढावा देने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा एक जिला एक उत्पाद के अन्तर्गत संतरा का चयन किया गया है। जिले में एक जिला एक उत्पाद के अन्तर्गत चयनित संतरा ने क्षेत्र के युवा उद्यमी श्री शाहरूख मंसूरी की तकदीर बदल दी है । शाहरूख की पहचान अब स्वरोजगार के माध्यम से रोजगार प्रदान करने वाले युवा उद्यमी के रूप में जिले में उभर कर आयी है जो अन्य युवाओं के लिये प्रेरणास्त्रोत बन गया है।

जिला व्यापार एवं उद्योग केन्र्प के महाप्रबंधक श्री जी.के.हरणे ने बताया कि जिले में कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन के मार्गदर्शन में एक जिला एक उत्पाद के अन्तर्गत चयनित संतरा फसल में रोजगार की अपार संभावनाओं के दृष्टिगत युवाओं को स्व-रोजगार के प्रति निरंतर आकर्षित किया जा रहा है । क्षेत्र के श्री शाहरूख मंसूरी के पिता श्री मोहम्मद शफी पटेल वर्षों से संतरा का व्यवसाय कर रहे हैं। प्रदेश के बाहर गुणवत्तापूर्ण संतरा की बढ़ती मांग के कारण उनके परिवार के मन में संतरा वैक्सिंग मशीन क्रय करने का विचार आया। संतरा के ऊपर वैक्सिंग करने से वह न केवल चमकदार दिखाई देता है, बल्कि संतरा की सेल्फ लाईफ भी 15-20 दिन तक बढ़ जाती है और गुणवत्ता यथावत बनी रहती है। लगभग 4 वर्ष पूर्व जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र द्वारा संचालित मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के अन्तर्गत श्री शाहरूख मंसूरी द्वारा सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया की सौंसर शाखा से 20 लाख रूपये का ऋण प्राप्त किया गया जिसका 15 प्रतिशत अनुदान भी शासन से प्राप्त किया जाकर संतरा वैक्सिंग मशीन क्रय की गई जिसकी वैक्सिंग क्षमता 5 टन प्रति घंटा है। आज युवा उद्यमी श्री शाहरूख मंसूरी द्वारा ग्रेडिंग के अनुसार 150, 175, 200 नग संतरे की कॅरेट में पैकिंग की जाकर उत्तरप्रदेश, बिहार, कलकत्ता आदि स्थानों पर प्रदेश के बाहर निर्यात किया जा रहा है जिससे प्रतिवर्ष 15 से 20 लाख रूपये का टर्न ओवर किया जाकर न केवल अपने परिवार का भरण पोषण किया जा रहा है, बल्कि 10 से अधिक व्यक्तियों को रोजगार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। सौंसर व पांढुर्णा क्षेत्र में वर्तमान में लगभग 11 से अधिक औसतन 2 टन प्रति घंटा की क्षमता की संतरा ग्रेडिंग वैक्सिंग मशीन संचालित है जिससे क्षेत्र की 30 से 40 प्रतिशत उत्पादित संतरा की वैक्सिंग की जाकर न केवल प्रदेश में, बल्कि बांग्लादेश, सउदी अरब आदि देशों को निर्यात किया जा रहा है। अनेक युवा अब इस उद्यम की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

Related posts