23 C
Bhopal
September 22, 2021
ADITI NEWS
देश

तेंदूखेड़ा में दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में एवं स्थानीय मुद्दो को लेकर राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ ने अर्धनग्न रैली निकालकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

तेंदूखेड़ा में दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में एवं स्थानीय मुद्दो को लेकर राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ ने अर्धनग्न रैली निकालकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ जिला नरसिंहपुर के तत्वाधान में आज दिनांक 30 नवंबर 2020 कृषि उपज मंडी तेन्दूखेड़ा में दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में धरना प्रदर्शन किया गया।
शहर के मुख्य मार्गो से रैली निकाल कर दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन किया गया ।

संगठन ने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन sdm को सौपा जिसमें राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ दिल्ली किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए किसान हित में कृषि अध्यादेशों से संबंधित आवश्यक संशोधन रखे वो इस प्रकार हैं,, 1.स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करते हुए C2+ के आधार पर किसानों को लागत के आधार पर डेढ़ गुना लाभकारी मूल्य प्रदान किया जावे।यह कि सरकार कृषि अध्यादेशों में किसानों की समस्त प्रकार की उपजों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने की गारंटी प्रदान करें ।

2.कान्ट्रेक्ट फार्मिंग मे सरकार स्वयं मध्यस्थता करते हुये किसान को भुगतान की गारंटी प्रदान करें । एवं किसानो को उपज का नगद भुगतान प्राप्त हो एवं विवाद की दशा में किसान को न्यायालय में जाने का प्रावधान हो ।

3 कृषि उपज मंडी की व्यवस्था को यथावत रखा जावे । कंपनीयों या अन्य व्यापारियों द्वारा मंडी प्रांगण से बाहर किसानों के खरीदे गये अनाज के भुगतान की गारंटी स्थानीय प्रशासन द्वारा दी जावे ।

4 आंदोलनरत किसानों पर बनाए गए प्रकरणों को वापस लिया जावे ।अगर किसानो के द्वारा जो न्यूनतम समर्थन मूल्य ग्यारंटी कानून कि माँग को जल्द से जल्द नही मानी जाती,एवम जो किसान दिल्ली में शांति पुर्ण आंदोलन कर रहे हैं उन पर अत्याचार बंद नही किया तो संगठक प्रत्येक विकासखंड स्तर पर अनिश्चितकालीन प्रारंभ करेगा । 5.विद्युत विभाग द्वारा अवैध पर्ची पर बिना राशि लिखे किसानों से अवैध वसूली की जा रही है जिसमें साक्ष्य सहित अनुविभागीय अधिकारी महोदय के समक्ष विषय रखा रखा गया एवं दोषी कर्मचारी अधिकारी पर दंडात्मक कार्यवाही की मांग की गई ।
6.शुगर परसेंट के हिसाब से किसानों को गन्ने का मूल्य प्रदान किया जावे एवं न्यूनतम गन्ना का मूल्य 450/-रू प्रति कुंतल की दर से किसानों को भुगतान किया जावे ।
7.शुगर मिलों द्वारा किसानों को वर्ष 2017 – 18 के गन्ना भुगतान में कटौती करके पेमेंट किया गया था । जिसका मय ब्याज का किसानों को शीघ्र भुगतान किया जाए ।
8.तेंदूखेड़ा एवं गाडरवारा क्षेत्र में सहकारी शुगरमिल का निर्माण किया जावे ।
9.प्राकृतिक आपदि बाढ एवं मकानों एवं किसानो की नष्ट हुई फसलों की R.B.C. – 6, 4 के अनुसार राहत राशि एवं बीमा राशि प्रदान की जावें ।
10.जल संरक्षण को दृष्टिगत रखते हुए विंध्याचल की पहाड़ियों पर प्रस्तावित मृगेन्दर्नाथ , रिछयाई पहाडी बिजोरा मौजा , भौंरपानी , मर्रावन , बरांझ परियोजना रम्पुरा , शक्कर आदि बाधों का शीघ्र निर्माण किया जावे एवं सतपुड़ा की पहाड़ियों पर प्रस्तावित दूधी नदी डैम का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जावे ।
11.किसानों को गुड का न्यूनतम ₹5000 कुंटल मूल्य मिलना चाहिए ।
12.प्राकृतिक आपदा को देखते हुए क्रांति धान में FAQ के मापदंडों शिथिल करते हुए , कैंसिल की गई किसानों की धान को भी खरीदा जावे ।
13 कृषिक अनुदान योजना के तहत् ट्रान्सफार्मर रखने की योजना पुनः लागू की जाएँ । 14.अटूट बंधन योजना की तर्ज पर पुनः अस्थाई कनेक्शन प्रदान किए जावे जिसमें दूरी की बाध्यता को समाप्त किया जाए ।
15.विद्युत मंडल द्वारा क्षमता वृद्धि करते हुए 3hp के कनेक्शन 5.hp एवं 5hp के 7.50 एचपी के कर दिए गए हैं जिन्हें यथावत किया जावे ।
16.गुड़ भट्टी के लिए एक माह का अस्थाई कनेक्शन प्रदान किया जावे ।
17 विद्युत विभाग द्वारा की जा रही कुर्की की कार्यवाही को तत्काल बंद किया जावे ।
18.स्थाई कनेक्शन की नियमावली विद्युत मंडल के ऑफिस के बोर्ड पर चस्पा की जावे।

कार्यक्रम में राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ प्रदेश कोषाध्यक्ष नीतिराज सिंह पटेल , जिला अध्यक्ष एकम सिंह पटेल , राव प्रमोद कुमार , जबलपुर संभाग अध्यक्ष देवेंद्र पटेल , जिला उपाध्यक्ष ब्रजमोहन कौरव, जिला संरक्षक वसंत जी खैरौनिया, ओम प्रकाश पटेल , मुन्ना भैया , राकेश खैरौनिया , महेश पटेल, गिरधारी पटेल कृष्ण कुमार पटेल सहित किसानों किसानों ने कार्यक्रम को संबोधित किया |

Related posts