38 C
Bhopal
April 11, 2021
ADITI NEWS
सामाजिक

विदिशा,संभागायुक्त द्वारा व्हीसी के माध्यम से समीक्षा

भोपाल संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत जी ने आज संभाग के जिलो में कृषि, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा विभागो के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा की साथ ही राजस्व कार्यो और राजस्व अमले की प्रभावी उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए है।
    संभागायुक्त श्री कियावत ने संभाग के सभी जिलो में 18 दिसम्बर तक किसान खेत पाठशाला के द्वितीय चरण का सम्पादन किया जाए। उन्होंने शेड्यूल तय अनुसार प्रत्येक ग्राम पंचायत में अमला पहुंचे की सूचना मुनादी से दी जाए। साथ ही राजस्व एवं ग्राम पंचायत के अमले को सक्रिया किया जाए। मुनादी कार्य कोटवारो के माध्यम से जबकि कृषक मित्र एवं दीदी संबंधित किसानो को सूचित करेंगे।
    संभागायुक्त श्री क्रियावत ने निर्देश दिए है कि किसान खेत पाठशाला खुले परिसर में हो। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि पंचायत भवन के अंदर तथा प्रभावी व्यक्ति की देलान में आयोजन कदापि ना हो। उन्होंने किसान खेत पाठशाला में उपस्थिति कम से कम एक सौ हो पर बल देते हुए कहा कि ग्राम के समृद्व किसान को आईकॉन स्थापित करते हुए अन्य किसानो को इसकी जानकारी दी जाए ओर उत्पादन कैसे बढे से संबंधित किसान अवगत कराएंगे।
’दुग्ध उत्पादकों को सोसायटी से जोड़ें’
    विटनरी और सहकारिता का अमला दुग्ध उत्पादकों को दुग्ध सोसायटी से जोड़े। दूध के दाम बढ़ने वाले हैं। डीआरसीएस अमले के साथ फील्ड में जाएं। दुग्ध उत्पादक किसानों को दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए जानकारी और शासकीय योजनाओं का लाभ पहुँचाएं। दुग्ध कलेक्शन सेंटर पर दूध की मात्रा बढ़ना चाहिए, अन्यथा विटनरी एवं सहकारिता के अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
’एक्सट्रा रीपर के साथ ही फसल कटाई सुनिश्चित करें’
    संभागायुक्त श्री कियावत ने एक्सट्रा रीपर नहीं होने पर मशीन के इस्तेमाल पर सख्त प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए। सभी कृषकों को एक्सट्रा रीपर अटेचमेंट की उपलब्धता सुनिश्चित करें। फसल कटाई में प्रदेश के बाहर की मशीनों पर प्रतिबंध रहेगा। नरवाई जलाने पर सख्त कार्यवाही और मशीन जप्ती के निर्देश दिये।
’सभी किसानों को उन्नत कृषि संबंधित मैसेज होंगे प्रसारित’
    संभागायुक्त श्री कियावत ने निर्देश दिये कि आत्मा, रबी एवं खरीफ पंजीयन और किसान खेत पाठशाला के किसानों के पंजीयन के दौरान मिले किसानों के फोन नम्बर लेकर फिल्टर कर एकीकृत फोन नम्बर्स का रिकॉर्ड तैयार किया जाए। सोमवार 7 दिसम्बर से प्रत्येक किसान को प्रतिदिन कृषि वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किए गए उन्नत कृषि संबंधी मैसेज प्रसारित किये जाएंगे जिससे कृषि उत्पादन की गुणवत्ता और मात्रा में वृद्धि होगी। एक तरह से ये मोबाइल पर कृषि पाठशाला होगी। संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि इससे एक भी किसान छूटे नहीं।
    संभागायुक्त श्री कियावत ने प्रथम चरण के किसान खेत पाठशाला की समीक्षा कर द्वितीय चरण की किसान खेत पाठशाला को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए राजस्व एवं जिला पंचायत को सक्रिय भूमिका निभाने के निर्देश दिये। बैठक में सभी जिलों के जिला पंचायत सीईओ, एडीएम, उप संचालक एग्रीकल्चर, विटनरी, मत्स्य एवं सहकारिता के अधिकारी उपस्थित थे।
कोटवारो को सशक्त बनाएं
    संभागायुक्त ने व्हीसी के दौरान राजस्व के ग्राम स्तरीय अमले को सशक्त बनाने हेतु विशेष निर्देश आज वीडियो कांफ्रेसिंग समीक्षा में दिए है। उन्होंने कहा कि पटवारी ओर कोटवार अपने कार्य क्षेत्रों में सतर्क, जागरूक रहें। उन्होंने अक्षम एवं बुर्जुग कोटवारो को अलग करने के निर्देश दिए हैं। कोटवारो के सभी क्लेम्वो का भुगतान करने, सेवा भूमि, केसीसी, नरेगा का भी लाभ दिलाया जाए। ग्राम स्तर की तमाम जानकारियों के स्त्रोत कोटवार स्मार्ट बनें। इसके लिए सर्किलवार 15-15 दिन में बैठक आयोजित कर उन्हें स्मार्ट फोन की उपयोगिता और महत्वता तथा संचार प्रचार-प्रसार के संसाधन का सदुपयोग कैसे करें की जानकारी दी जाए। संभागायुक्त ने कोटवारो को मुनादी हेतु ड्रम यंत्र ग्राम पंचायतों के माध्यम से मुहैया कराए जाने के निर्देश दिए हैं।
    संभागायुक्त द्वारा राजस्व अधिकारियो को भ्रमण के दौरान पानी बिजली, ग्रामीण विकास, उचित मूल्य दुकान, राजस्व के अलावा कृषि संबंधी सूचनाएं प्राप्त करनी चाहिए ताकि ग्रामीण क्षेत्र में किसी भी प्रकार से सुपात्र वंचित ना हो सकें। उन्होंने समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं जनपदो के सीईओ को भ्रमण कर रात्रि विश्राम ग्राम पंचायतों में करने के निर्देश दिए है।
    एनआईसी के व्हीसी कक्ष में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा समस्त एसडीएम मौजूद रहें।

Related posts