25.1 C
Bhopal
July 29, 2021
ADITI NEWS
सामाजिक

नरसिंहपुर,समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी अपराधों में संवेदनशीलता बरतने हेतु,पुलिस अधीक्षक द्वारा 2 दिवसीय प्रशिक्षण सेमीनार का आयोजन

नरसिंहपुर। पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक अजय सिंह द्वारा समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला अपराधों के प्रति संवेदनशीलता विषय पर आयोजित किया जा रहा दो दिवसीय सेमीनार
पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देश के पालन में पुलिस अधीक्षक अजय सिंह द्वारा समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी अपराधों के संबंध में दिनांक 13.12.2020 एवं 14.12.2020 को पुलिस कंट्रोल रूम नरसिंहपुर में दो दिवसीय प्रशिक्षण सेमीनार का आयोजन किया जा रहा है।
समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी अपराधों में संवेदनशीलता वरतने हेतु दिया गया प्रशिक्षण:-
दो दिवसशीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रथम दिन आज दिनांक 13.12.2020 को पुलिस कंट्रोल रूम नरसिंहपुर में पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह, अति. पुलिस अधीक्षक श्री सुनील शिवहरे, एसडीओपी नरसिंहपुर श्री कौशल सिंह, उप पुलिस अधीक्षक, अजाक श्री अर्जुनलाल उईके, डीएसपी अजाक श्री अहिरबार एवं प्रचार्य श्रीमति स्वाती चादोरकर सहित 47 अधिकारी एवं कर्मचारी सम्मिलित हुए। प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों को समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी अपराध एवं धरेलू हिंसा से संबंधित अपराधों में संवेदनशीलता एवं सर्तकता वरतने हेतु समझाईस दी गयी। प्रशिक्षण के दौरान कानून एवं अधिनियम में कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी आपराधों में प्रावधानों की बारीकियों को बताया गया साथ ही एससी एसटी एवं कमजोर वर्गो पर होने वाले अत्याचारों पर पूर्ण संवेदनशीलता के साथ कार्यवाही करने हेतु निर्देश भी दिए गए।
पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह द्वारा सेमीनार में उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों को दी गयी समझाईस:-
पुलिस कंट्रोलरूम नरसिंहपुर में आयोजित दो दिवसीय प्रशिक्षण सेमीनार में उपस्थित अधिकारी कर्मचारियों को पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह द्वारा समाज के कमजोर वर्गो एवं महिला संबंधी अपराधों को लेकर कानून एवं अधिनियमों में जो प्रावधान है उनके सबंध में जानकारी प्रदान की गयी एवं उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों को अपनें कर्तव्य निर्वाहन के दौरान निम्न सावधानियां वरतने हेतु समझाईस दी गयी:-
समाज के कमजोर वर्गो एवं थाने में आये फरियादी/पीडित के प्रति संवेदनशीलता बरतकर भरोसा जीते।
निर्णय लेने की क्षमता को विकसित करे।
कानून, अधिनियमों एवं प्रावधानों का पूर्ण ज्ञान होना आवश्यक है।
कार्यवाही करने से बचने के लिए हीला हबाली न करे।
कानून एवं अधिनियमो, प्रावधानों के अनुरूप ही कार्य कें।
प्रलिस को प्राप्त शक्तियों का दुरूपयोग कतई न करे।
एफआईआर करते समय एवं विवेचना के दौरान पूर्ण संवेदनशीलता बरते।
फरियादी अथवा पीडित के थाने में आने पर उससे बहुत अच्छा व्यवहर रखे, उसकी बात को गंभीरता से सुनते हुए संवेदीनशीलता बरते।
अपनी सहज सरल छबि को सामने रखकर आमजनों से व्यवहार करे।
फरियादी अथवा थाने में आये व्यक्ति के साथ गालीगालौच कतई न करे।
थाने में आये व्यक्ति को अधिक से अधिक समय दे।
सेमीनार के दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा अधिकारी एवं कर्मचारियों से कर्तव्य के दौरान आने वाली कठनाईयों को सुना गया एवं कर्मचारियों से सुझाव भी सुने गये।

Related posts