22.2 C
Bhopal
January 17, 2021
ADITI NEWS
सामाजिक

गाडरवारा,बसेड़िया ने किया उत्कृष्ट शिक्षको का सम्मान


गाडरवारा। मंगलवार को स्वामी विवेकानंद जयंती के शुभ अवसर पर माँ विजयासन इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर वरिष्ठ समाजसेवी मुकेश बसेडिया द्वारा नगर की नर्मदा कालोनी कालोनी स्थित कार्यालय परिसर के मंदिर में कोरोना संक्रमण काल के दौरान मोहल्ला कक्षाओं में बेहतर अध्यापन कार्य कराने वाले साईंखेड़ा विकासखण्ड के 75 उत्कृष्ट शिक्षको का सम्मान किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में सर्वप्रथम मंदिर परिसर में आने वाले अतिथियों को मास्क प्रदान करते हुए उनके हाथ सेनेटाइजर से धुलाये गए। कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर डायरेक्टर मुकेश बसेडिया द्वारा कन्या पूजन किया गया तदोपरांत कार्यक्रम के निर्देशक माध्यमिक शिक्षक मधुसूदन पटैल ने वृद्धजन को तिलक लगाकर कंबल भेंट करते हुए वृद्ध सेवा की। कार्यक्रम में मंचासीन अतिथियों द्वारा विद्या की देवी माँ सरस्वती , माँ विजयासन, दादा धूनी वालो एवं स्वामी विवेकानंद जी के चित्र का पूजन कर दीप प्रज्जवलन किया गया तत्पश्चात अतिथियों का स्वागत तिलक लगाकर एवं रुद्राक्ष पहनाकर किया गया। कार्यक्रम में सर्वप्रथम स्वागत भाषण देते हुए मुकेश बसेडिया ने कहा की हमारे इन्स्टीट्यूट द्वारा समाजसेवी कार्य लंबे समय से किये जा रहे है। मुझे मेरे शिक्षक मित्र मधुसूदन पटैल ने कोरोना संक्रमण के काल मे प्रदेश में शासकीय स्कूल लंबे समय से बंद होने की स्तिथि में संचालित मोहल्ला कक्षाओं में शिक्षको के बेहतर प्रदर्शन की जानकारी दी तो मेरे मन मे उन शिक्षको का सम्मान करने का विचार आया जो आज इस कार्यक्रम के रूप में परिणित हुआ है। कार्यक्रम के अतिथि साहित्यकार कुशलेन्द्र श्रीवास्तव ने अपने उदबोधन में कहा की बसेडिया जी पीड़ित मानवता की सेवा में पूर्ण मनोयोग से जुटे रहते है। कोरोना काल के लाकडाउन में आदिवासी दुर्गम वनांचल इलाको में भी इन्होंने शानदार मानवसेवा की थी । इनके कार्यों की जितनी प्रशंसा की जाये कम है। कार्यक्रम के अतिथि विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी डी के चतुर्वेदिवने कहा की भयावह कोरोना काल में स्कूल के बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने में मोहल्ला कक्षाये मील का पत्थर साबित हुई है। शिक्षको ने कक्षाओं का संचालन शानदार ढंग से किया है। कार्यक्रम के अतिथि बीआरसी चंदन शर्मा ने कहा की एक ओर जहां प्रदेश सरकार दक्षता परीक्षा के जरिये शिक्षको की परीक्षा ले रही है वही दूसरी ओर आज शिक्षको का सम्मान देखकर खुशी हो रही है। सर्व ब्राह्मण सभा के अध्य्क्ष राजीव दुबे ने भी अपने उदबोधन में आयोजन की सराहना कर सम्मानित शिक्षको को बधाई दी।कार्यक्रम को प्राचार्य अनूप शर्मा, बीएसी संदीप स्थापक, कृष्णा शर्मा, सुशील शर्मा ने भी संबोधित करते हुए आयोजन की प्रशंसा की। कार्यक्रम में मोहल्ला कक्षाओं के अंतर्गत जनशिक्षा केंद्र साईंखेड़ा से पवन,राजौरिया,मनोज पटैल ,बेनी प्रसाद मेहरा , हेमिना कोठारी , ज्योति, श्रीवास्तव ,जनशिक्षा केंद्र बनवारी से प्रशान्त पटेल, सुरेंद्र पटैल ,लालजी प्रसाद कपाड़िया
अनिरुद्ध अवस्थी , डालचंद कोठिया ,जनशिक्षा केंद्र आमगांव छोटा से श्रीमती अर्चना गुप्ता , रमाकांत पाराशर, गोपाल प्रसाद काछी , नेतसिंह कौरव , ब्रजेश कौरव जनशिक्षा केंद्र बम्होरीकला से कमलेश पाराशर, महेश दास बैरागी , हरगोविंद पटैल, सुरेश कुमार श्रीवास , श्रीमती सत्यवती कौरव जनशिक्षा केंद्र पलोहा से
विवेक चौरसिया , पोषराज मेहरा, संयोगिता कौरव, प्रियंका अग्रवाल , दशरथ प्रसाद किरार, जनशिक्षा केंद्र आदर्श से नरवर सिंह सराठे, यशपाल सिंह राजपूत , शकुन अधरुज, प्रतिभा मौर्य , दुर्गा राय, जनशिक्षा केंद्र केएनव्ही से राजेन्द्र गुप्ता ,उत्तम वर्मा , मधुसूदन पटैल, अल्पना स्थापक , ममता चौहान के अलावा विशेष सम्मान के रूप में मनीष शंकर तिवारी , प्रभात रूसिया , नरेश मेहरा,कृष्णकांत दुबे, अमित पटैल, संजीव बसेडिया , श्यामस्वरूप खरे को डायरी, पैन, कलेंडर एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में जनशिक्षको, मंचासीन अतिथियों , उपस्थित जनों को भी उपहार देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के लोगो का सम्मान करने पर विभाग की तरफ से पंडित मुकेश बसेडिया एवं मधुसूदन पटेल का शाल , श्रीफल से सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रफुल्ल दीक्षित एवं योगेंद्र झारिया ने संयुक्त रूप से किया एवं अंत मे आभार प्रदर्शन मुकेश बसेडिया ने करते हुए उपस्थित जनों के प्रति आभार जताते हुए कहा की माँ विजयासन इंस्टीटूयट द्वारा बिना कोई सहयोग के समाजसेवा से जुड़े कार्यक्रम मेरे द्वारा किये जाते हैं। कार्यक्रम में महेश अधरुज, अरुण तिवारी, आर के निगम, विनय अवस्थी,नयनकिशोरी जी, संतीश नाइक, अरविंद स्थापक, बीएसी मनीराम मेहरा, भानु राजपूत, ओम प्रकाश दुबे,नेतराज कौरव, गणेश कौरव, प्रिंस बसेडिया सहित बड़ी संख्या में शिक्षकों की उपस्तिथि उल्लेखनीय रही।

Related posts