38 C
Bhopal
April 11, 2021
ADITI NEWS
व्यापार समाचार

स्व-सहायता समूह खाद्यान्न का नियमित रूप से उठाव करें,कलेक्टर

डिंडोरी। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि स्व-सहायता समूह खाद्यान्न का उठाव नियमित रूप से करें। सहकारी उचित मूल्य की दुकानों में स्व-सहायता समूह का खाद्यान्न लंबित नहीं रहना चाहिए। कलेक्टर ने जिला आपूर्ति अधिकारी को स्व-सहायता समूहों के द्वारा खाद्यान्न उठाव के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत करने को कहा। कलेक्टर श्री झा सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में उक्त निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री अरूण कुमार विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्रीमति मिनिषा भगवती पाण्डेय, एसडीएम डिंडौरी श्री महेश मण्डलोई, एसडीएम शहपुरा श्रीमति अंजू अरूण विश्वकर्मा, सहायक कलेक्टर सुश्री सृष्टि जयंत देशमुख, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 आर.के. मेहरा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमति मंजूलता सिंह, जिला समन्वयक सर्वशिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डॉ0 संतोष शुक्ला, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग श्री एम.एस. धुर्वे, जिला कोषालय अधिकारी श्री एम.एल. बघेल सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।
    कलेक्टर श्री झा ने कहा कि जिन आंगनबाडी केन्द्रों की भूमि में अतिक्रमण किया गया है, उसे तत्काल हटाया जाए। जिससे आंगनबाडी केन्द्रों का संचालन करने और बच्चों को खेलने के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध रहे। उन्होंने जिले में संचालित नलजल योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। नलजल योजनाओं का संचालन प्रभावी ढंग से करने के निर्देश दिए। जिससे लोगों को पेयजल उपलब्ध होता रहे। कलेक्टर श्री झा ने को-वैक्सीन टीकाकरण की समीक्षा की। प्रथम टीकाकरण के बाद दूसरा टीकाकरण अनिवार्य रूप से लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री झा ने जिले में स्थापित किये गए गेहूं उपार्जन केन्द्रों में किसानों की फसल क्रय करने के लिए समुचित व्यवस्थाएं दुरूस्त रखने के निर्देश दिए। विभागीय अधिकारी इसके लिए गेहूं उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण कर लें। जिससे निश्चित हो सके कि गेहूं उपार्जन केन्द्रों में किसानों को कठिनाई नहीं होगी।
    कलेक्टर श्री झा ने माध्यमिक शिक्षा मण्डल भोपाल के द्वारा संचालित कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की वार्षिक परीक्षा संचालन की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाओं का संचालन सफलतापूर्वक करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री झा ने जिले में किये जा रहे आबादी सर्वे और आरबीसी 6-4 के अंतर्गत फसल नुकसान के प्रकरणों की भी समीक्षा की। उन्होंने एक जिला, एक उत्पाद के अंतर्गत स्व-सहायता समूहों के द्वारा संचालित गतिविधियों की समीक्षा की। जिले में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए विकासखण्डों में दुग्ध उत्पादन के लिए डेयरी फर्म खोलने के निर्देश दिए। पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग को दुग्ध उत्पादन के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाना होगा। कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग को जर्जर हो रही सडकों की मरम्मत कराने को कहा। जिससे आवागमन सुगम हो सके।    
    कलेक्टर श्री झा ने कहा कि डिंडौरी जिले में शासकीय भूमि, और सार्वजनिक रास्तों में किये गए अवैध अतिक्रमण को तत्काल हटाया जाए। उक्त स्थलों में किसी भी प्रकार का अतिक्रमण नहीं होना चाहिए। उन्होंने राजस्व अधिकारी को अवैध अतिक्रमण पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि नर्मदा नदी के दोनों तटो में वृक्षारोपण किया जायेगा। इसके लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए दिये गए हैं। कलेक्टर श्री झा ने खनिज का अवैध उत्खनन एवं परिवहन करने वालों पर भी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में खनिज का अवैध उत्खनन एवं परिवहन नहीं होना चाहिए। खनिज संपदा की रायल्टी नियमित रूप से जमा होनी चाहिए। कलेक्टर श्री झा ने राजस्व न्यायालयों में दर्ज प्रकरणों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिससे न्याायलय में कोई भी प्रकरण लंबित न रहे। कलेक्टर श्री झा ने इसी प्रकार से बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, विद्युत व्यवस्था में सुधार, पेयजल व्यवस्था में सुधार, सीएम हेल्पलाईन, आयुष्मान कार्ड एवं वनाधिकार पट्टों के प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की।

Related posts