23 C
Bhopal
September 22, 2021
ADITI NEWS
सामाजिक

नरसिंहपुर,मेगा क्रेडिट कैम्प का कलेक्टर ने किया उदघाटन

नरसिंहपुर । मंगलवार को सेन्ट आरसेटी प्रांगण में सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया द्वारा किसान समृद्धि अभियान के तहत मेगा क्रेडिट कैंप का उदघाटन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री रोहित सिंह, श्री चंदन राजा डीआरएम क्षेत्रीय कार्यालय सागर, श्री राजेश त्रिपाठी डीडीए श्री संतोष महाडिक डीडीएम नाबार्ड, श्री जयदेव विश्वास अग्रणी जिला प्रबंधक, श्री सीएस तिवारी निदेषक, श्री आरके मालवीय डीपीएम, सेन्ट्रल बैंक की जिले के समस्त शाखा प्रबंधक एवं कृषक, स्वसहायता समूह की महिलायें, हितग्राहीगण उपस्थित रहें।

   जिला अग्रणी कार्यालय (सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया) द्वारा यह कार्यक्रम किया गया। जिला नरसिंहपुर की सेन्ट्रल बैंक की समस्त शाखाओं द्वारा 86 हितग्राहियों को 16 करोड रूपये के कृषि ऋण स्वीकृत किया गया एवं चैक एवं स्वीकृति पत्र प्रदान किया गया।

   कलेक्टर श्री सिंह द्वारा इस कार्यक्रम की सराहना की गयी और बताया गया कि नरसिंहपुर जिला मां नर्मदा की धरा पर होने के कारण यहां पर कृषि क्षेत्र में अपार संभावनायें हैं। कृषि कार्य में उच्च तकनीकी को अपनाते हुए ज्यादा से ज्यादा पैदावार हो सकें, इस पर फोकस करने की आवश्यकता है। स्वसहायता समूहों को बैंक लिंकेज के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा स्वरोजगार स्थापित कराने का प्रयास किया जायें। डीडीएम नाबार्ड द्वारा जिले में संचालित योजनाओं को विस्तार से बताते हुए कैसे लाभ लिया जा सकता है, इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

   विदित है कि सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया द्वारा पूरे मध्यप्रदेश में किसान समृद्धि अभियान 03 से 20 सितम्बर 2021 तक मनाया जा रहा है। जिसमें किसानों एवं अन्य गतिविधियों में जैसे किसान क्रेडिट कार्ड, स्वयं सहायता समूह, गोल्ड लोन, संबंद्ध कृषि गतिविधियों, फार्म मशीनीकरण, एफपीओ एफपीसी, खाद्य और कृषि प्रसंस्करण इकाईयां आदि को बढाने हेतु ऋण प्रदान किया गया है।

   अग्रणी जिला प्रबंधक द्वारा कार्यक्रम की रूपरेखा से मंचासीन अतिथियों को अवगत कराया गया। श्री चंदन राजा डीआरएम क्षेत्रीय कार्यालय सागर द्वारा बैंकिंग क्षेत्र में चल रही योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया गया। श्री नीरज विद्यार्थी शाखा प्रबंधक द्वारा बताया गया कि बैंकिंग से क्या लाभ प्राप्त किया जा सकता है और कैसे लगातार बैंक की सहायता से आमदानी को बढ़ाया जा सकता है।

Related posts