23 C
Bhopal
September 22, 2021
ADITI NEWS
व्यापार समाचार

नरसिंहपुर। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए किसान पंजीयन 15 सितम्बर से 14 अक्टूबर तक होगा किसानों के पंजीयन के लिए जिले में 69 पंजीयन केन्द्र निर्धारित

नरसिंहपुर । राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के निर्देशानुसार खरीफ विपणन मौसम 2021- 22 में समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) की खरीदी किये जाने के लिए किसान पंजीयन का कार्य 15 सितम्बर से 14 अक्टूबर तक किया जायेगा। शासन के निर्देशानुसार जिले में किसानों के पंजीयन के लिए 69 पंजीयन केन्द्र निर्धारित किये हैं।

         इस सिलसिले में तहसील नरसिंहपुर में वृहत्ताकार सेवा सहकारी संस्था नरसिंहपुर, लोकीपार एवं डांगीढाना, सेवा सहकारी संस्था सिंहपुर, धमना, मुंगवानी- पाठापिपरिया एवं बचई- करहैया और प्राथमिक सहकारी समिति गोरखपुर एवं नयागांव और नरसिंह फॉरमेर्स क्रॉप प्रोड्यूसर कंपनी नरसिंहपुर के समिति परिसर, तहसील करेली में सेवा सहकारी संस्था करताज एवं सुआतला, वृहत्ताकार सेवा सहकारी संस्था करेली एवं आमगांवबड़ा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कोदसा, प्राथमिक सहकारी समिति रामपिपरिया, केरपानी- सरसला एवं हिरनपुर- बरमान और सहकारी विपणन संस्था करेली के समिति परिसर, तहसील गोटेगांव में सेवा सहकारी संस्था वेदू, सूरवारी, सिमरिया, सिमरीबड़ी, उमरिया, लाठगांव एवं जमुनिया, वृहत्ताकार सेवा सहकारी संस्था गोटेगांव एवं करकबेल, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था श्रीनगर, प्राथमिक सहकारी समिति इमलिया- कामती एवं मेख के परिसर, तहसील तेंदूखेड़ा में वृहत्ताकार सेवा सहकारी संस्था चांवरपाठा, तेंदूखेड़ा एवं डोभी और प्राथमिक सहकारी समिति बिलगुवां, रम्पुरा, काचरकोना एवं बिलहेरा के परिसर, तहसील गाडरवारा में सहकारी विपणन संस्था गाडरवारा, सेवा सहकारी संस्था सिहोरा, आड़ेगांव, खुरसीपार, सीरेगांव, चीचली, बनवारी, तूमड़ा, रम्पुरा, सासबहू, पचामा, मारेगांव, खैरूआ, अमाड़ा, कौंड़िया, सहावन, बाबईकलां, इमलिया- पिपरिया, डुंगरिया, कामती, नांदनेर एवं महगुवां खुर्द, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था गोटीटोरिया, वृहत्ताकार सेवा सहकारी संस्था करपगांव, पलोहाबड़ा एवं गाडरवारा, प्राथमिक सहकारी समिति रहमा, बोहानी, चिर्रिया एवं इमझिरी और विपणन सहकारी समिति चीचली के परिसर में किसान पंजीयन का कार्य किया जायेगा।

          किसान उपरोक्त पंजीयन केन्द्रों के अतिरिक्त अपना पंजीयन एमपी किसान एप के माध्यम से भी कर सकते हैं, किंतु सिकमी एवं वन पट्टाधारी कृषकों का पंजयीन मात्र पंजीयन केन्द्रों पर ही होगा। सिकमी/ बटाईदार आवेदनकर्ता का उपार्जन हेतु अधिकतम अनुबंधित कुल रकबा 5 हेक्टर से अधिक नहीं होगा। साथ ही सिकमी/ बटाईदार अनुबंध की एक प्रति पंजीयन कराने वाले व्यक्ति/ कृषक को संबंधित तहसीलदार को (मध्यप्रदेश भू- स्वामी एवं बटाईदार हितो का संरक्षण विधेयक 2016 के प्रावधान अनुसार) उपलब्ध करानी होगी। पंजीयन के समय सिकमी/ बटाईदार के साथ मूल भू- स्वामी के आधार नम्बर की जानकारी भी लानी होगी। खरीफ विपणन वर्ष 2021- 22 में किसान पंजीयन में 15 अगस्त 2021 तक कराये गये सिकमी/ बटाईदार अनुबंध ही मान्य होंगे। किसानों को भुगतान जेआईटी के माध्यम से सीधे बैंक खाते में किया जायेगा। इस कारण किसान पंजीयन में केवल राष्ट्रीयकृत एवं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की शाखाओं के एकल खाते ही मान्य किये जायेंगे। संयुक्त खाता, जनधन, ऋण, नाबालिग, बंद एवं अस्थाई रूप से रोके गये खाते (विगत 6 माह से क्रियाशील नहीं हो) आदि पंजीयन में मान्य नहीं होंगे। यह जानकारी जिला आपूर्ति अधिकारी नरसिंहपुर ने दी है।

Related posts