23.1 C
Bhopal
October 16, 2021
ADITI NEWS
व्यापार समाचार

मंडला,10 से 17 अक्टूबर तक कान्हा में आयोजित होगा ’कोदो-कुटकी तिहार’

स्थानीय व्यंजन, उत्पाद एवं आदिवासी संस्कृतिक की दिखेगी झलक

मंडला। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कान्हा राष्ट्रीय उद्यान के 1 अक्टूबर के बाद पर्यटकों के लिए खोले जाने के मद्देनजर विभिन्न अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने कृषि, आदिवासी विकास, ग्रामीण इंजीनियरिंग विभाग, जिला पंचायत तथा संबंधित विभागों को निर्देशित किया कि 10 से 17 अक्टूबर तक कान्हा में ’कोदो-कुटकी तिहार’ आयोजित किया जाएगा। श्रीमती सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम में ’एक जिला एक उत्पाद’ के तहत् मंडला जिले से चिन्हित कोदो-कुटकी के उत्पाद एवं गोंडी पैंटिंग का विशेष प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने निर्देशित किया कि ’कोदो-कुटकी तिहार’ कार्यक्रम मोचा स्थित पंचायत भवन में आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम में मंडला जिले की आदिवासी संस्कृति, बैगा संस्कृति, लोकनृत्य तथा स्थानीय उत्पादों एवं व्यंजनों की प्रदर्शनी की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि कोदो-कुटकी तिहार कार्यक्रम में कोदो-कुटकी की फसल के परिचय से लेकर उससे बनने वाले विभिन्न पौष्टिक व्यंजन एवं स्थानीय उत्पादों का विस्तृत परिचय दिया जाए।
श्रीमती सिंह ने कहा कि इस साप्ताहिक कार्यक्रम को संचालित करने एक समिति गठित करें जिसमें एडीएम तथा सीईओ जिला पंचायत सहित संबंधित विभागों के अधिकारी शामिल रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में रेशम, आजीविका, एफपीओ तथा बेकरी के उत्पादों के लिए भी स्टॉल लगाएं। इसी प्रकार दीदी केफे के माध्यम से आजीविका समूह के द्वारा बनाए जाने वाले उत्पादों एवं कलाओं का प्रदर्शन सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने इस कार्यक्रम के लिए कार्यविभाजन आदेश जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही योजना बनाकर कार्यक्रम को अंतिम रूप देने की बात कही।
बैगा एवं आदिवासी संस्कृति पर आधारित हो थीम
    कलेक्टर ने निर्देशित किया कि 10 से 17 अक्टूबर तक आयोजित किए जाने वाले ’कोदो-कुटकी तिहार’ कार्यक्रम की बैगा तथा आदिवासी संस्कृति पर आधारित थीम निर्धारित करें। इस थीम के साथ ही कार्यक्रम स्थल में बैगा, आदिवासी जीवन की झलक प्रस्तुत करने वाली गतिविधियाँ, परिधान, नृत्य, संगीत की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इस ’कोदो-कुटकी तिहार’ में बैगा नृत्य कलाकारों एवं आदिवासी संगीत का भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसी प्रकार गोंडी पैंटिंग के प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा भी जनजातीय पेंटिंग्स का प्रदर्शन करवाएं। श्रीमती सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए लगाए जाने वाले स्टॉल्स के उत्पादों की कीमत भी निर्धारित करें।
मंडला थाली, स्थानीय व्यंजन एवं पेय रहेंगे विशेष आकर्षण
    कलेक्टर ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि ’कोदो-कुटकी तिहार’ में कोदो-कुटकी तथा स्थानीय प्रसिद्ध व्यंजनों को पर्यटकों के लिए तैयार करें। इसी प्रकार आयुर्वेदिक पेय पदार्थ, ऊर्जा एवं स्वास्थ्यवर्धक चाय, शहद, महुए के व्यंजन एवं उत्पाद, एनआरएलएम की दीदियों द्वारा बनाए जाने वाले उत्पादों की बिक्री की व्यवस्था करें। इसी प्रकार पर्यटकों के लिए ’मंडला थाली’ के रूप में आकर्षक भोजन एवं व्यंजन तैयार करें। श्रीमती सिंह ने निर्देशित किया कि कार्यक्रम स्थल पर कोदो-कुटकी के उत्पादों एवं उसकी पौष्टिकता से संबंधित जानकारी के फ्लैक्स एवं बैनर भी लगाएं।
    कलेक्टर ने इस कार्यक्रम का संबंधित विभागों को समन्वय कर पर्याप्त प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्हांेने समयपूर्व कार्यक्रम स्थल पर सभी जरूरी तैयारियां करने की बात कही। उन्होंने डीडीए को निर्देशित किया कि कार्यक्रम स्थल में कोदो-कुटकी के उत्पादों पर आधारित प्रोसेसिंग यूनिट का नमूना भी तैयार करें। बैठक में सहायक कलेक्टर अग्रिम कुमार, एडीएम मीना मसराम सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts