14.1 C
Bhopal
February 23, 2024
ADITI NEWS
क्राइम

थाना कुण्डम अंतर्गत हत्या के प्रकरण में 2 वर्ष से फरार 7 हजार रूपये के ईनामी शातिर बदमाश को अधारताल पुलिस ने घेराबंदी कर लोडेड पिस्टल के साथ रंगे हाथ पकड़ा

थाना कुण्डम अंतर्गत हत्या के प्रकरण में 2 वर्ष से फरार 7 हजार रूपये के ईनामी शातिर बदमाश को अधारताल पुलिस ने घेराबंदी कर लोडेड पिस्टल के साथ रंगे हाथ पकड़ा

पूर्व से हैं लूट, नकबजनी, चोरी, बलात्कार, आबकारी एक्ट के 9 अपराध पंजीबद्ध

*पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री आदित्य प्रताप सिंह (भा.पु.से.) द्वारा जिले के समस्त थाना प्रभारी एवं राजपत्रित अधिकारियों को मामले में फरार, इनामी उद्घोषित आरोपियों को पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया है।*

 

थाना कुण्डम में दिनांक 14-11-21 की सुबह बजे 100 डायल में सूचना प्राप्त हुई थी कि थाना कुण्डम अंतर्गत ग्राम काराघाट एवं खैरी मडई कला के बीच मेन रोड पर एक व्यक्ति मृत पड़ा है। सूचना पर 100 डायल तत्काल पहुंची, लोगों की भीड लगी थी एक व्यक्ति मृत अवस्था मे बीच रोड मे पड़ा हुआ था, चेहरे में खून लगा हुआ था। भीड मे उपस्थित संतोष यादव उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम छतैनी कुआ टोला थाना बिलासपुर जिला उमरिया ने बताया कि सुबह 6 बजे उसकी भाभी ने मोबाईल पर फोन कर बताया कि तुम्हारे भाई ओमप्रकाश यादव काराघाट एवं खैरी मडईकला के बीच मेन रोड पर मृत पड़े हुये है। सूचना पर उसने तुरंत पहुंचकर देखा तो उसका भाई ओम प्रकाश यादव उम्र 35 वर्ष मृत पडे हुये थे। मर्ग कायम कर जांच में लिया गया।

दौरान जांच कें ज्ञात हुआ कि ग्राम चौरई मे ंमृतक ओमप्रकाश, संजय नगर अधारताल निवासी सत्यम एवं बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल निवासी ग्राम बंाध के साथ घूम रहा था। यह जानकारी लगते ही संदेही सत्यम पटेल पिता अंजनी पटेल उम्र 20 वर्ष निवासी संजयनगर आधारताल को अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूंछताछ की गयी जिसने बताया कि दिवाली के करीबन 3/4 दिन बाद राजेन्द्र यादव के घर खिरवा में बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल उसेे लेकर गया था औऱ 22 हजार रूपये लिए थे, उसने पूछा किस बात के रूपये हैं तो बताया कि ओमप्रकाश यादव को मारने के लिए लिया हूं। फिर ओमप्रकाश के घर मड़ईकला जाकर ओमप्रकाश से बंटी ने बोला कि जब मैं तुमको काम के लिए बुलाऊंगा तो तुम आ जाना, उसके बाद दिनांक 13/11/2021 को सुबह लगभग 10-30 बजे बंटी उर्फ रामकिशोर ने धनी की कुटिया के पास बुलाया और उसेे अपने साथ लेकर मड़ईकला गया, रास्ते में कुण्डम में रूककर उसने बैगपाइपर की शराब खरीदी एवं समोसा, नमकीन, भाजीबड़ा शराब पीने के लिए डिस्पोजल लिए थे फिर हम दोनों चौरई पहुेच जहॉ पर हमें ओमप्रकाश मिला, पेट्रोलपंप के आगे मैदान में तीनों लोगों ने शराब पी, तथा शराब पीने के बाद काफी समय तक रुके रहे ।

 

शाम लगभग 6 बजे जब हल्का अंधेरा होने लगा था बैगपाईपर की शराब आधी बची थी ओमप्रकाश को शराब लग गयी तो हमने पीना बंद कर दिये फिर हम ओमप्रकाश को घर छोडने के लिये उसके घर मढईकला जा रहे थे बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ने ओमप्रकाश को बाईक में बीच मे बैठाया और वह पीछे बैठ गया था गांव की ओर काफी दूर जाने के बाद सडक के किनारे एक खेत पर बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ले गया और बोला कि बची दारू पी कर ओमप्रकाश को घर छोड देगे फिर हम तीनों पुनः शराब पीने लगे, फिर वहां से बंटी उठ कर अपनी मोटर साईकल के पास गया और गाडी के सीट के नीचे से लोहे की राड अपने स्वेटर में छुपाकर लाया और हम दोनों के आगे पीछे कुछ देर घूमा फिर उसके साथ बैठे ओमप्रकाश के सिर पर पीछे से 3-4 बार रांड से हमला कर दिया, ओमप्रकाश तडपने लगा और बेहोश हो गया फिर बंटी ने ओमप्रकाश की तलाशी ली औऱ जेब से पर्स और मोबाईल निकाला मोबाईल का कवर औऱ सिम निकाल कर फेंक दिया और पर्स अपने पास रख लिया फिर उसे बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ने ओमप्रकाश को उठाने के लिये बोला वह घबरा गया एवं डर के कारण किनारे खडा हो गया तो बंटी ने उसके साथ गालीगलौज करते हुये उससे कहा कि किसी ने देखा तो तेरे को भी यहीं जान से मार दूंगा, तब उसने डरते-डरते लाश को पकडा उसने दोनों हाथ एवं बंटी ने दोनों पैर पकडा गाडी के पास पहंुचते ही ओमप्रकाश की लाश गिर गई, चैक किया तो ओमप्रकाश की सांस चल रही थी फिर बंटी ने दुबारा राड से ओमप्रकाश के गर्दन, व सिर पर मारा औऱ गाडी पर रख लिये जब गाडी को खेत से ऊपर चढाने लगे तो गाडी बहक कर नीचे गिर गयी हम दोनों भी गिर गये, रोड पर बंटी ने मोटर साईकल ले जाकर खडा किया औऱ फिर से ओमप्रकाश को मोटर सायकिल में रखकर थोडा दूर जे जाकर बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ने गाडी से उसे उतार कर ओमप्रकाश को अपने पीछे टिका कर ले गया जो एक या दो मिनट बाद तुरन्त वापस आया फिर उसे अपनी मोटर साईकल मे बैठाया औऱ जिस रास्ते आये थे उसी रास्ते से वापस हुऐ, रास्ते में मोबाईल चालू करके ओमप्रकाश को मारने के लिये पैसे देने वाले राजेन्द्र यादव को फोन लगा कर बोला कि काम हो गया बाँडी को अस्पताल ले जाओ इतनी बात उसने सुना था। वापस जबलपुर आते वक्त रास्ते में एक नदी मिली वहां हम दोनों ने हाथ और गाडी में लगा खून साफ किये फिर सीधे जबलपुर के लिये निकले, रास्ते में एक ढावे के सामने आग लगी हुई थी उस में हमने खून के दाग लगी टी-शर्ट को जला दिया फिर वहां से जबलपुर आ गये, इस काम के बदले बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ने उसे 10 हजार रूपये दिये थे ।

आरोपी राजेन्द्र कुमार यादव पिता सोने लाल यादव उम्र 42 वर्ष निवासी ग्राम खिरवा सेमर मोहल्ला मखरार कुण्डम एवं ओमबाई यादव पति राजेन्द्र कुमार यादव उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम खिरवा सेमर मोहल्ला मखरार कुण्डम , मृतक की पत्नि सरोज बाई पति स्व0 ओमप्रकाश यादव उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम मढईकला मरकामन टोला थाना कुण्डम मृतक की सास रतनी बाई यादव पति स्व0 परसराम यादव उम्र 65 वर्ष निवासी ग्राम मढईकला मरकामन टोला थाना कुण्डम को अभिरक्षा में लेकर पूंछताछ करने पर पत्नि ने बताया कि पति ओमप्रकाश उसे एवं उसकी माँ रतनी बाई ,ताई माँ कमली बाई, को शराब गांजा पीकर आये दिन मारापीट करता था, उसके ऊपर कई बार मिट्टी का तेल डाल कर जलाने की कोशिश कर चुका था जिसको बहन ओमबाई एवं जीजा राजेन्द्र ने एक दो बार समझाया भी था , जो कहता था कि मै अपनी औरत को कुछ भी करूं जान से मार दूं तुमको क्या, यह सुनकर जीजा राजेन्द्र कुमार यादव ने ओमप्रकाश को दो-तीन थप्पड मार दिया था ओमप्रकाश हर बार कहता था कि एक दिन मै तुम सबको खत्म कर दूंगा । पति ओमप्रकाश के आये दिन शराब पीकर मारपीट करने से हम सभी परेशान थे। इस कारण वह ,बहन ओमबाई ,जीजा राजेन्द्र , एवं माँ रतनी बाई ने ओमप्रकाश को रास्ते से हटाने के लिये प्लान बनाये और हमने पहले से ही आस पास के गांव से सुन रखा था कि बंटी नाम व्यक्ति जबलपुर का गुण्डा है जो अवैध रेत के पैसों की वसूली करने हमारे गांव आता है जिसने और कई लोगों को ठिकाने लगा दिया है और आज तक पकडा नही गया है और किसी की भी हत्या करने का पैसा लेता है, तो उसकी माँ रतनी बाई ने लोहडा उमरिया जाकर उसके मामा रामकुमार यादव से 25000/- रुपये उधार मांग कर लाई थी। फिर उसके जीजा राजेन्द्र ने बंटी से बात करके ओमप्रकाश को मारने की योजना बनायी, बंटी ने ओमप्रकाश को मारने के लिये 50 हजार रुपये की मांग करने लगा जो बाद में 22 हजार रुपयें में तैयार हो गया।

 

दीवाली के चार दिन बाद बंटी अपने साथी के साथ काले रंग की पल्सर गाडी में दिन के करीबन 11.00 बजे जीजा के घर गया और ओमप्रकाश को मारने के पैसे लेकर चला गया । दिनांक 13/11/21 को सुबह 08 से 8/30 बजे के बीच बंटी ने फोन करके जीजा को बोला कि आज मै अपने साथी के साथ ओमप्रकाश को गाडी चलाने के काम के लिये चौरई (कुण्डम ) बुलाऊंगा और शराब पिलाने के बाद मार कर सडक पर फैंक दूंगा तुम जाना और ओमप्रकाश का एक्सीडेन्ट हो गया कह कर उसकी लाश को उठा लेना, यह जानकारी जीजा राजेन्द्र ने उसे बताई थी औऱ बंटी से कहा कि तुम पैसे लिये हो अपने हिसाब से मारना मुझे मत बीच में डालो,। उसके बाद रात में लगभग 9.30 बजे के बीच फोन करके बताया कि काम हो गया है तुम जाकर ओमप्रकाश की लाश को मढईकाल रोड से उठा कर ले जाओ।

प्रकरण में घटना दिनॉक से ही मुख्य आरोपी रामकिशोर पटेल उर्फ बंटी पिता रामकुमार पटेल उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम बांध ढीमरखेडा जिला कटनी का फरार था जिसकी गिरफ्तारी हेतु हर सम्भावित स्थानों पर दबिश दी गयी, पकडे न जाने पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा फरार आरोपी की गिरीफ्तारी पर 7 हजार रूपये के नगद ईनाम की उद्घोषणा की गयी थी।

 

दिनॉक 10-2-24 को देर रात विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर हत्या के प्रकरण में फरार ईनामी आरोपी रामकिशोर पटेल उर्फ बंटी जो कि वर्तमान में गणेश चौक कटरा अधारताल में रह रहा था, को कढोंदा में ममता हार्डवेयर के सामने घेराबंदी करते हुये थाना प्रभारी अधारताल श्री विजय कुमार विश्वकर्मा के निर्देशन में थाना अधारताल में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक रामसनेह शर्मा, सहायक उप निरीक्षक मोहन तिवारी, प्रधान आरक्षक हितेन्द्र रावत, आरक्षक रीतेश शुक्ला, राजेश केवट की टीम के द्वारा रामकिशोर उर्फ बंटी पटेल को 1 देशी पिस्टल जिसमें 4 राउडं लोड थे के साथ पकड़ा गया। थाना अधारताल में आरोपी के विरूद्ध धारा 25, 27 आर्म्स एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये थाना कुण्डम को सूचना दी गयी , थाना कुण्डम पुलिस द्वारा प्रकरण में विधिवत गिरफ्तारी की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि पकडा गया आरोपी शातिर अपराध प्रवृत्ति का है जिसके विरूद्ध पूर्व से लूट , नकबजनी, चोरी, बलात्कार, आबकारी एक्ट के 9 अपराध पंजीबद्ध है।

Related posts