30.1 C
Bhopal
April 25, 2024
ADITI NEWS
देशव्यापार समाचारसामाजिक

जबलपुर,उपार्जन व्‍यवस्‍था को दुरूस्‍त करने में सहभागी बने किसान – कलेक्‍टर श्री सक्‍सेना

उपार्जन व्‍यवस्‍था को दुरूस्‍त करने में सहभागी बने किसान – कलेक्‍टर श्री सक्‍सेना

किसानों की समस्‍याओं के निराकरण के लिये किसान संगठनों के साथ बैठक संपन्‍न

किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिये आज गुरुवार को किसान संगठनों के साथ संपन्न हुई बैठक में कलेक्टर दीपक सक्सेना ने उपार्जन व्यवस्था को दुरुस्त करने में किसानों से सहभागी बनने का आग्रह किया है।श्री सक्सेना ने धान उपार्जन के दौरान हुई अनियमितताओं का उल्लेख करते हुये कहा कि गेहूँ के उपार्जन में धान की खरीदी में सामने आई कमियों को दूर किया जा रहा है, ताकि वास्तविक किसानों को किसी तरह की असुविधा न हो और बिचौलिये या व्यापारी इस व्यवस्था का किसी भी तरह अनुचित लाभ न उठा पायें। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में गेहूँ उपार्जन के लिये पंजीयन में आ रही कठिनाइयों और धान का शेष रह गये किसानों को भुगतान के मुद्दे पर चर्चा की गई । इसके अलावा कृषि भूमि के नामान्तरण में आ रही कठिनाइयों, ओव्हरलोड विद्युत ट्रांसफार्मरों को बदलने, नहरों के रखरखाव और बरसात के दिनों में खेतों तक पहुँचने में होने वाली कठिनाइयों को दूर करने खेत सड़क योजना के तहत मार्ग निर्माण पर भी चर्चा हुई। कृषि उपज मंडी में व्यापारियों और मटर उत्पादक किसानों के बीच हुये विवाद की वजह से खराब हुई मटर की मुआवजा राशि का शीघ्र भुगतान कराने की मांग भी किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने बैठक में की।

बैठक में किसान संगठनों के पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों ने उपार्जन व्यवस्था में सुधार के लिये प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों का स्वागत किया और इसमें अपनी ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। किसान संगठनों की ओर से कहा गया कि किसानों की आड़ में उपार्जन व्यवस्था का अनुचित लाभ उठाने वाले बिचौलियों के नाम प्रशासन को उपलब्ध कराये जायेंगे। किसान संघों ने आगे से उपार्जन के दौरान व्यापारियों की मिलीभगत से गड़बड़ी करने वाले फर्जी किसानों के नाम पंजीयन के लिये ब्लैक लिस्ट करने के सुझाव पर भी सहमति दी।

कलेक्टर श्री सक्सेना ने बैठक में गेहूँ के उपार्जन के लिये पंजीयन कराने में किसानों के सामने आ रही कठिनाइयों को जल्दी ही दूर करने का आश्वासन देते हुये स्पष्ट किया कि किसानों के पंजीयन जरूरी हैं। किसान पात्र समितियों के अलावा कॉमन सर्विस सेंटर, एमपी ऑनलाइन किसान या मोबाइल एप से भी अपना पंजीयन करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि गिरदावरी का करीब 24 फीसदी कार्य अभी बाकी है इस वजह से भी कुछ किसानों को पंजीयन कराने में कठिनाई आ रही है। एक-दो दिन में गिरदावरी का कार्य पूरा हो जाने पर यह समस्या भी दूर हो जायेगी। श्री सक्सेना ने बैठक में सिकमी पंजीयन की प्रक्रिया के बारे में भी किसानों को जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि धान खरीदी में हुई गड़बड़ियों को देखते हुये इस बार सिकमी के पंजीयन सिकमीनामा की विधिवत प्रक्रिया पूरी होने पर ही होंगे। कलेक्टर ने धान के शेष रह गये किसानों को भुगतान के मुद्दे पर किसान संगठनों को बताया कि धान खरीदी में हुई अनियमितताओं के कारण कुछ ही किसानों का भुगतान अटका हुआ है। जल्दी ही इस मामले का भी निराकरण कर लिया जायेगा। श्री सक्सेना ने किया किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिये बैठक के नियमित आयोजन के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि बैठक के अलावा किसान कभी भी उनसे फोन पर सम्पर्क कर अपनी कठिनाई बता सकते हैं।

कलेक्टर ने बैठक में कृषि से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिये फसल विविधीकरण को अपनाने के लिये किसानों को प्रोत्साहित करने का आग्रह किसान संगठनों से किया। उन्होंने मूंगफली की खेती जैसे जिले में हो रहे नवाचारों की जानकारी भी दी। श्री सक्सेना ने किसानों को सोलर पंप लगाने के प्रेरित करने की जरूरत भी बताई। उन्होंने कहा कि सोलर पंप लगाने से किसानों को सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि वे दिन में भी फसलों को पानी दे सकेंगे। कलेक्टर ने किसानों को घरों पर रूफ टॉप सोलर पैनल लगाने का आग्रह किया और इसके फायदे बताये। उन्होंने किसान संगठनों के सुझाव पर सोलर पंप और रूफ टॉप सोलर पैनल के बारे में विस्तार से जानकारी देने जल्दी ही कार्यशाला आयोजित करने की बात कही।

बैठक के प्रारम्भ में कलेक्टर सक्सेना का किसान संघों की ओर से स्वागत किया गया। बैठक में किसान संगठनों की ओर से श्री के. के अग्रवाल, श्री रूपेन्‍द्र पटेल, शरद कुमार भुर्रक, वीरेन्‍द्र पटेल, बब्‍लू सिंह राजपूत, नीतु शुक्‍ला, गजेन्‍द्र खंपरिया, शुभम खंपरिया, भारत पटेल, दीनबंधु पटेल, सुभाष चन्‍द्रा, रितेश पचौरी आदि मौजूद थे। वहीं उपसंचालक कृषि रवि आम्रवंशी, परियोजना संचालक आत्‍मा डॉ. एस के निगम तथा कृषि से जुड़े विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Aditi News

Related posts