27.6 C
Bhopal
June 23, 2024
ADITI NEWS
क्राइम

फरार हिस्ट्रीशीटर 30 हजार रूपये के ईनामी शमीम कबाड़ी को संरक्षण एवं छिपने मे मदद करने वाले नागपुर निवासी अब्दुल करीम सत्तार पटेल को नागपुर से गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया जेल

फरार हिस्ट्रीशीटर 30 हजार रूपये के ईनामी शमीम कबाड़ी को संरक्षण एवं छिपने मे मदद करने वाले नागपुर निवासी अब्दुल करीम सत्तार पटेल को नागपुर से गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया जेल

थाना अधारताल के अपराध कमंाक 513/2024 धारा 304, 120 बी भादवि तथा 3, 5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम में दिनॅाक 25-4-2024 को हाजी शमीम कबाडी के राजुल सिटी के सामने कटनी रोड खजरी (चाटी) में कबाड़/वेयरहाउस में विस्फोट होने की घटना में आरोपी शमीम पिता मोह. बसीर, निवासी सैफ नगर रद्दी चौक गोहलपुर का घटना दिनॉक से फरार है।

उक्त प्रकरण की गम्भीरता को दृष्टिगत रखते हुये पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर श्री अनिल सिंह कुशवाह (भा.पु.से.) के द्वारा 30,000/- रूपये (30 हजार रूपये ) के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की उद्घोषणा की गयी है।

 

पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री आदित्य प्रताप सिंह (भा.पु.से.) के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर सुश्री सोनाक्षी सक्सेना (भा.पु.से.), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध) श्री समर वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण ) श्रीमति सोनाली दुबे, के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक अधारताल श्रीमति प्रियंका करचाम के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच एवं थाना अधारताल की टीमें गठित कर लगायी गयी है।

 

आज दिनॉक 26-5-2024 को थाना अधारताल अंतर्गत ग्राम चांटी में रजा मेटल इंडस्ट्रीज नाम से 5000 वर्गफुट भूमि पर लगभग 2 करोड़ की लागत से निर्मित गोदाम को आज पूरी तरह से जमीदोज कर दिया गया है।

फरार हिस्ट्रीशीटर 30 हजार रूपये का ईनामी आरोपी शमीम कबाड़ी के सम्बंध मे पतासाजी की गयी तो ज्ञात हुआ कि नागपुर में लुक-छिप कर रह रहा है। यह जानकारी लगते ही नगर पुलिस अधीक्षक गढा श्री देवेन्द्र सिंह चौहान एवं थाना प्रभारी अधारताल श्री विजय विश्वकर्मा के नेतृत्व मे उप निरीक्षक दीपक मण्डलोई, योगेन्द्र सिंह, सहायक उप निरीक्षक रामसनेह शर्मा, आरक्षक प्रतीक दुबे, सायबर सेल के आरक्षक जितेन्द्र की एक टीम नागपुर रवाना की गयी।

पतासाजी पर ज्ञात हुआ कि शमीम कबाड़ी का नागपुर भारत कालोनी में रहने वाले अब्दुल करीम सत्तार पटेल नाम के कबाड़ी से काफी पुरानी दोस्ती है, अब्दुल करीम सतार पटेल से सघन पूछताछ की गयी तो बताया कि फरारी के दौरान शमीम कबाड़ी नागपुर में आकर मिला था, जिसे 50 हजार रूपये दिये थे एवं होटल में बात कर रूकवाया था। कुछ दिन रूकने के बाद कहॉ जा रहा है बता कर नहीं गया है।

अब्दुल करीम सत्तार पटेल के द्वारा फरार हिस्ट्रीशीटर शमीम कबाड़ी को संरक्षण देते हुये छिपने में मदद करना पाये जाने पर आने जाने हेतु दी हुई स्कार्पियो तथा अब्दुल करीम के 02 मोबाईल जिनसे बात करता था को जप्त करते हुये अब्दुल करीम सत्तार पटेल को अभिरक्षा में लेकर 212 भा.द.वि. के तहत कार्यवाही करते हुये मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में केन्द्रीय जेल जबलपुर में निरूद्ध कराया गया है।

Aditi News

Related posts