13.4 C
Bhopal
November 30, 2022
ADITI NEWS
सामाजिक

नरसिंहपुर, जिले के प्रमुख समाचार ,कलेक्टर ने नरसिंहपुर शहरी क्षेत्र का किया भ्रमण

कलेक्टर ने किया जल शोधन संयंत्र का निरीक्षण

नरसिंहपुर शहरी क्षेत्र का किया भ्रमण

नरसिंहपुर। कलेक्टर सुश्री ऋजु बाफना ने गुरूवार को नरसिंहपुर शहरी क्षेत्र का भ्रमण किया। उन्होंने जल शोधन संयंत्र, नरसिंह तालाब, सांकल रोड के समीप ट्रेंचिंग ग्राउंड- डंपिंग एरिया और सुभाष पार्क का मुआयना किया।

जल शोधन संयंत्र का निरीक्षण

जल शोधन संयंत्र के निरीक्षण के दौरान संयंत्र का रखरखाव और समुचित साफ- सफाई नहीं पाये जाने पर कलेक्टर ने गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने निर्देशित किया कि संयंत्र का अच्छे तरीके से रखरखाव सुनिश्चित किया जाये, पुताई करायें। हर सप्ताह टेल एंड पर पानी की टेस्टिंग पीएचई विभाग के माध्यम से कराई जाये।

नरसिंह तालाब का मुआयना

कलेक्टर सुश्री बाफना ने नरसिंह तालाब परिसर का मुआयना किया। उन्होंने नरसिंह तालाब के निर्माण से संबंधित तकनीकी पहलुओं की जानकारी ली और प्रस्तावित कार्य योजना का मैप देखा। इस संबंध में उन्होंने कहा कि डब्ल्यूआरडी एवं एनव्हीडीए के अधिकारियों से भी विचार- विमर्श करें। उन्होंने निर्देशित किया कि अच्छी गुणवत्ता का निर्माण कार्य हो। यह देखें कि यहां और बेहतर से बेहतर क्या किया जा सकता है। उन्होंने पिचिंग, प्रोटेक्शन वॉल, फैंसिंग बाउंड्री, वॉकिंग एरिया, घाट निर्माण, व्यू प्वाइंट प्लेटफार्म, बच्चों के खेलने की व्यवस्था, बोटिंग आदि के बारे में जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिये।

ट्रेंचिंग ग्राउंड का निरीक्षण

कलेक्टर ने सांकल रोड के समीप स्थित नगर पालिका के ट्रेंचिंग ग्राउंड- डंपिंग एरिया का निरीक्षण किया और सेग्रीगेशन का कार्य देखा। उन्होंने सूखा- गीला कचरा सेग्रीगेशन, कचरा निष्पादन एवं इससे जुड़े एनजीओ/ एजेंसी, मटेरियल रिकव्हरी फैसिलिटी- एमआरएफ के बारे में जानकारी ली। उन्होंने सीएमओ को निर्देशित किया कि यहां से कचरा साफ कराने के लिए कार्य योजना तैयार कर शेड्यूल जारी करें। कचरा तेजी से हटवाया जाये। कचरा निष्पादन के कार्य को मॉडल के रूप में विकसित करें। उन्होंने घर- घर से कचरा इकट्ठा करने के बाद अलग- अलग करके बेचने की बात कही, इसका लाभ नगर पालिका के कर्मचारियों को भी मिल सकेगा। कचरा उठाकर निष्पादन करने के बारे में संतोषजनक जबाव नहीं देने पर उन्होंने संबंधित एजेंसी के सुपरवाइजर को हटाने के निर्देश दिये।

सुभाष पार्क का अवलोकन

कलेक्टर ने सुभाष पार्क का अवलोकन किया। उन्होंने बच्चों के खेलने के लिए की गई व्यवस्थाओं के बारे में पूछा। कलेक्टर ने सीएमओ को निर्देशित किया कि शहर में रिक्त शासकीय भूमि पर पार्क विकसित किये जायें।

बोहानी व भौरझिर में ग्राम प्रस्फुटन समितियों के कार्यों की हुई समीक्षा

नरसिंहपुर। नशा मुक्ति अभियान के दौरान मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के तहत चांवरपाठा विकासखंड के अंतर्गत पंचायत भवन बोहानी और भौरझिर में सेक्टर स्तरीय बैठक आयोजित की गई।

      बैठक में ग्राम प्रस्फुटन समितियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई। नशामुक्ति, स्वच्छता, नव भारत साक्षर, ऊर्जा साक्षरता अभियान, जल संरक्षण व संवर्धन, गौ संवर्धन व संरक्षण, शासकीय योजनाओं का प्रचार- प्रसार और ग्राम विकास के विभिन्न आयामों पर किए जाने वाले कार्यों पर चर्चा की गई। टीबी रोग से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी द्वारा जानकारी दी गई। भौरझिर में हाई स्कूल के विद्यार्थियों और शिक्षकों के साथ नशामुक्ति पर संवाद किया गया और नशा मुक्ति की शपथ दिलाई गई।

       नशा मुक्ति अभियान के अंतर्गत जन जागरूकता के लिए रैली, जनसंवाद/ संगोष्ठी, दीवार लेखन तथा शपथ दिलाने, लोगों को नशे से होने वाली सामाजिक, आर्थिक, शारीरिक व मानसिकता हानियों के प्रति जागरुक किया गया। बैठक में उपस्थिति सभी सदस्यों को नशा मुक्ति की शपथ दिलाई गई।

       सेक्टर स्तरीय बैठक में मप्र जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक श्री जयनारायण शर्मा, विकासखंड समन्वय चांवरपाठा, नवांकुर संस्था बोहानी व भौरझिर के अध्यक्ष व सचिव, सेवा समिति बिल्थारी के सचिव, बोहानी ग्राम विकास प्रस्फुटन सहित मनकवारा, सिहोरा, कौड़िया, पुरगवां, बुधवारा, दुधवारा, अजंसरा, सिहोरा- अट्ठाइसा, कोठिया- लिलवानी एवं भैंसा ग्राम विकास समितियों के प्रतिनिधि मौजूद थे। भौरझिर में करहैया, घघरौलाकलां व खुर्द, पटना, पिठेहरा, भूमियाढाना, सगौरिया, मड़ेसुर, खुलरी, इमझिरी सहित 18 ग्राम विकास प्रस्फुटन समितियों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

पिछड़ा वर्ग के कॉलेज के छात्रों के लिए छात्रावास में प्रवेश की प्रक्रिया पुन: शुरू

नरसिंहपुर।पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक विभाग द्वारा शासकीय एवं अशासकीय कॉलेजों में नियमित विद्यार्थी के रूप में नामांकित व अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए जिला मुख्यालय पर नरसिंहपुर में 100 सीटों वाले पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास का संचालन किया जाता है। चालू शैक्षणिक सत्र के लिए छात्रावास में कॉलेज के छात्रों द्वारा प्रवेश लिये जाने के बाद भी यहां सीटें रिक्त हैं। छात्रावास की रिक्त सीटों पर प्रवेश के लिए प्रक्रिया पुन: शुरू की गई है। इच्छुक छात्र कार्यालयीन समय में कलेक्ट्रेट नरसिंह भवन स्थित पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के कार्यालय और मुशरान वन स्थित छात्रावास में सम्पर्क कर प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह जानकारी सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण ने दी है।

शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज नरसिंहपुर में प्रवेश के लिए ऑनलाइन पंजीयन 24 से 30 नवम्बर तक

नरसिंहपुर।शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज नरसिंहपुर में तीन वर्षीय इंजीनियरिंग डिप्लोमा के लिए कम्प्यूटर साइंस और इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग ब्रांच में 10 वीं पास छात्र- छात्रायें और मार्डन ऑफिस मैनेजमेंट ब्रांच में 12 वीं पास छात्र- छात्रायें संस्था स्तर की काउंसलिंग के दौरान प्रवेश ले सकते हैं। इसके लिए ऑनलाइन पंजीयन 24 से 30 नवम्बर को दोपहर एक बजे तक कराया जा सकेगा। पंजीयन के बाद इच्छुक संस्था में प्रवेश का अवसर प्राप्त करने के लिए उपस्थित होना होगा। रिक्तियां उपलब्ध होने पर प्रतिदिन 26 नवम्बर से 30 नवम्बर को रात 11.45 बजे तक प्रवेश का अवसर उपलब्ध रहेगा। वार्षिक ट्यूशन फीस 7500 रुपये का भुगतान दो किश्तों में किया जा सकेगा। नियमानुसार पूरी फीस की छूट भी प्रदान की जाती है। इस संबंध में किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर छात्र- छात्रायें शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज नरसिंहपुर में उपस्थित होकर प्रक्रिया पूर्ण करा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए टेलीफोन नम्बर 07792- 236705 पर सम्पर्क किया जा सकता है। यह जानकारी प्राचार्य शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज डॉ. बीएम बघेल ने दी है।

सर्पदंश से मृत्यु पर 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता

नरसिंहपुर। जिले के नरसिंहपुर अनुविभाग में सर्पदंश से मृत्यु होने के एक प्रकरण में मृतक के निकटतम वारिस को राहत प्रदान करने के उद्देश्य से अनुविभागीय राजस्व अधिकारी नरसिंहपुर ने राजस्व पुस्तक परिपत्र 6- 4 के नवीन प्रावधानों के तहत 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि मंजूर की है।

      इस सिलसिले में जिले की नरसिंहपुर तहसील के ग्राम पाला के निवासी रविशंकर आ. हल्के प्रसाद की सर्पदंश से 5 अगस्त 2022 को मृत्यु हो जाने पर मृतक के निकटतम वारिस उनकी पत्नी रोशनी काछी पति रविशंकर काछी को राहत प्रदान करने के उद्देश्य से 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है।

Related posts