17.3 C
Bhopal
February 23, 2024
ADITI NEWS
धर्म

जैन मुनि का विधि विधान के साथ हुआ पिच्छि परिवर्तन

जैन मुनि का विधि विधान के साथ हुआ पिच्छि परिवर्तन

KamarRana 

रायसेन देवरी—–नगर देवरी के गोरखपुर में जैन समाज द्वारा पिच्छिका परिवर्तन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह आयोजन गोरखपुर के जैन मंदिर प्रांगण में हुआ।

गोरखपुर के बस स्टैंड से लेकर जैन मंदिर तक मुख्य मार्ग को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। जानकारी अनुसार सबसे पहले जैन मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें बड़ी संख्या में जैन समाज की महिलाएं, पुरुष, बच्चे, बुजुर्ग सभी शामिल रहे।

भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह में, जैन मुनि श्री आर्जव सागर जी महाराज के शिष्य छुल्लक श्री 105 हर्षित सागर जी महाराज द्वारा प्रवचन किया गया। इस परिवर्तन समारोह में सैकड़ो की तादाद में महिलाएं पुरुष एवं बच्चे उपस्थित थे। अंत मे पिच्छिका प्रदान की गई

पुरानी पिच्छिका दी गई। बताया गया कि पुरानी पिच्छिका उन्हीं लोगों को दी जाती है जो ं सात्विक जीवन अपनाना स्वीकार करते हैं।

तेंदूखेड़ा से आए हुए एमबीबीएस एमडी डॉक्टर शचिंद्र मोदी ने बताया कि पिच्छिका दिगंबर जैन मुनियों के पास रहने वाला मयूर पंख होता है जो सूक्ष्म जीवन हिंसा को रोकने मैं सहायक होता है।

नगर के राजेश जैन, प्रिंस जैन, ऋषभ जैन ,नीलू जैन, कल्पित जैन को पुरानी पिच्छिकाऐ दी गई।
इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। जिसमें धार्मिक गीत और नृत्य प्रस्तुत किए गए।
परिवर्तन समारोह के अंत में सभी श्रद्धालुओं को स्मृति चिन्ह भेंट किये गये। और सभी आए हुए श्रद्धालुओं ने भोजन प्रसादी की। इस मौके पर सिलवानी उदयपुरा,तेंदूखेड़ा, बरेली, पिपरिया, के साथ-साथ क्षेत्र केश्रद्धालु मौजूद रहे।

Related posts