21.1 C
Bhopal
February 5, 2023
ADITI NEWS
धर्मसामाजिक

कुंडलपुर, विविध वेशभूषा स्पर्धा का भव्य आयोजन हुआ

विविध वेशभूषा स्पर्धा का भव्य आयोजन हुआ

कुंडलपुर ।सुसिद्ध सिद्ध क्षेत्र कुंडलपुर में रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम की श्रंखला में विविध वेशभूषा स्पर्धा का अभिनव आयोजन हुआ ।लगभग 30 प्रतिभागियों ने शानदार प्रस्तुति देकर सहभागिता जताई। बड़े बाबा की तलहटी में बसे कुंडलपुर जैसे छोटे कस्बे में प्रतिभाओं की कमी नहीं एक से बढ़कर एक प्रस्तुति देकर प्रतियोगियों ने दर्शकों का मन मोह लिया। छोटे से लेकर बड़ों तक ने अपनी प्रतिभा की अमिट छाप छोड़ी और निर्णायको को पशोपेश में डाल दिया ।काजल जैन सरस्वती देवी की भूमिका में ,आरोही मैना सुंदरी, रोमिल जैन श्रवण कुमार, पर्व जैन भक्तांबर गाथा का गान, रश्मि जैन सोधर्मेंद्र संगीता जैन शचि इंद्रानी ,सिद्धि जैन नीलांजना ,अंशिका जैन नीलांजना की सखी ,राजुल जैन सोमा का पति ,चंचल जैन सती सोमा ,शौर्य जैन मुनि महाराज की भूमिका में ,सुरभि जैन ने दश लक्षण धर्म की भूमिका में दशधर्म की सुंदर व्याख्या की ।विक्रांत जैन ने हथकरघा की भूमिका में हथकरघा की जानकारी दी। आयुषी सुरसुंदरी ,गुनगुन मैना सुंदरी ,कोमल चंद जैन एवं संगीता जैन ने सेठ सेठानी की भूमिका में सोनागिर चंदा प्रभु भगवान के दर्शन करने जाने की मनमोहक प्रस्तुति दी ।अरिहंत जैन हनुमान की भूमिका, प्राशू जैन झांसी की रानी की सुंदर प्रस्तुति ,आदेश जैन नन्हा बालक महात्मा गांधी चरखा से सूत काटते हुए ,अविरल जैन श्री कृष्ण, श्रीमती रत्ना जैन यशोदा माता ,श्रीमती शिखा जैन ने कारागृह की चंदन वाला की जीवंत भूमिका में आकर्षक प्रस्तुति देकर अपनी अमिट छाप छोड़ी ।आयुष जैन भगवान महावीर ,देवांश जैन साईं बाबा, पलक जैन सरस्वती माता, ममता जैन बुढ़िया की भूमिका में नजर आईं,हर्षिता सीता जी,। शैली जैन पूर्णायु की डॉक्टर ,सान्या जैन मरीज की भूमिका में पर्व और आयांश जैन कुंडलपुर के निवासी बनकर आचार्य श्री का सपना आयुर्वेद को अपनाएं जीवन सफल बनाएं पूर्णायु की शानदार प्रस्तुति दी । अर्हम जैन श्रेष्टि श्रावक बन मुनि महाराज का पडगाहन किया ,भूमि जैन राजस्थानी बालिका की भूमिका में नृत्य ,लक्ष्मी दीदी ने किसान की भूमिका में ग्रामीण किसान के परिवार के जीवन यापन का सुंदर चित्रण किया। निर्णयाको के निर्णय अनुसार बालक वर्ग में भूमि जैन राजस्थानी बालिका को प्रथम स्थान ।श्रीमती शिखा जैन चंदनबाला की भूमिका को प्रथम स्थान। सुरभि जैन दशलक्षण पर्व की भूमिका को द्वितीय स्थान एवं शैली जैन को पूर्णायु की प्रस्तुति पर तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

Related posts