14.1 C
Bhopal
February 23, 2024
ADITI NEWS
सामाजिक

किसान सभा नरसिंहपुर गिरफ्तार किसान नेताओ कीतत्काल रिहाई की मांग करती है,

किसान सभा नरसिंहपुर गिरफ्तार किसान नेताओ कीतत्काल रिहाई की मांग करती है,किसान नेता कुररिया सहित मप्र में अनेक किसान नेताओं की गिरफ्तारी,किसान सभा तथा संयुक्त किसान मोर्चा ने बताया इसे सरकार के डर और तानाशाही का सबूत

⚫ प्रदेश के किसानों के वरिष्ठ नेता, मध्य प्रदेश किसान सभा के उपाध्यक्ष तथा आदिवासी अधिकार राष्ट्रीय मंच की केंद्रीय कार्यकारिणी के सदस्य रामनारायण कुररिया को आज सिवनी के लखनादौन में गिरफ्तार कर लिया गया । उस समय उनके साथ युवा आदिवासी नेता अनिल सल्लाम थे, पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया है । खबर है कि यह गिरफ्तारियां जबलपुर पुलिस के कहने पर की गई हैं । इसके पहले दोपहर में पुलिस कुररिया के जबलपुर स्थित निवास पर गयी थी जहां से उनकी पत्नी, महिला नेत्री अंजना कुररिया को “एस पी ने बुलाया है” कहकर ले गयी थी अब तक की सूचना के अनुसार वे भी अभी वापस घर नहीं लौटी हैं ।

⚫ इसी बीच रीवा से भी संयुक्त किसान मोर्चा रीवा के संयोजक एडवोकेट शिवसिंह, किसान सभा जिला महासचिव रामजीत सिंह तथा इन्द्रजीत सिंह शंखू सहित 7 किसान नेताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है ।

⚫ मध्यप्रदेश किसान सभा के अध्यक्ष अशोक तिवारी, महासचिव अखिलेश यादव, मप्र आदिवासी एकता महासभा के अध्यक्ष बुद्धसेन सिंह गोंड, महासचिव लालता प्रसाद कोल ने इस गिरफ्तारी की निंदा की है और इसे मध्यप्रदेश सरकार के किसानो से डरने और उनकी आवाज को कुचलने के तानाशाहीपूर्ण तरीके अपनाने का सबूत बताया है ।

⚫ दोनों संगठनों ने कहा है कि 16 फरवरी को देश भर में मजदूर किसानो के ग्रामीण बंद तथा औद्योगिक हड़ताल के आव्हान से केंद्र तथा प्रदेश की भाजपा सरकारें भयभीत होकर तानाशाही पर उतर आयी हैं । देश प्रदेश के किसान इस हड़ताल को और अधिक उत्साह के साथ सफल बनाकर इस तानाशाही का जवाब देंगे ।

⚫ अखिल भारतीय किसान सभा के संयुक्त सचिव बादल सरोज ने भी इन गिरफ्तारियों की भर्त्सना की है । उन्होंने कहा है कि एक तरफ खेती किसानी को बर्बाद करने और उसे बचाने की मांग करने वाले कुररिया जैसे किसान नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है दूसरी तरफ मोदी सरकार डॉ स्वामीनाथन और चौधरी चरण सिंह के भारत रत्न देने का दिखावा कर खुद के किसान विरोधी अपराधों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है । एआईकेएस ने सभी गिरफ्तारों को तुरंत रिहा करने और इस अवैध अनुचित गिरफ्तारी के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है ।

⚫संयुक्त किसान मोर्चा मध्यप्रदेश ने भी इन गिरफ्तारियों को डरी हुई सरकार की हताश कार्यवाही बताया है ।
जगदीश पटेल

Related posts